5AC423FB902F99F7B04A6C0E44CE75FA
Breaking News

‘आयुष्मान भारत’ का शुभारंभ करते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दिया कुछ ऐसा बयान…

गरीबों को पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा वाली आयुष्मान भारत योजना रविवार से देश भर में शुरू हो गई। लखनऊ में गृहमंत्री राजनाथ सिंह व राज्यपाल राम नाईक ने लाभार्थियों को प्रतीक स्वरूप योजना का कार्ड देकर इसकी शुरुआत की। इस योजना के शुभारंभ से प्रदेश के लगभग 1.18 करोड़ परिवारों का फ्री इलाज का लाभ मिलेगा। मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची से देश भर में इस योजना लॉन्च किया जबकि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर से योजना की शुरुआत की।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित कार्यक्रम में योजना के शुभारंभ पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह राज्यपाल ने कहा कि भारत के लिए यह ऐतिहासिक दिन है। यह अब तक की सबसे बेहतरीन योजना है। इससे नागरिकों को शतायु होने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि बीमार होने पर गरीब परिवार का पूरा बजट ही बिगड़ जाता था लेकिन अब आयुष्मान भारत ना सिर्फ बीमारियों से मुक्ति दिलाएगा बल्कि लोगों का बजट बिगड़ने से भी रोकेगा।

उन्होंने कहा कि  हिंदुस्तान में 5 करोड़ ऐसे लोग चिह्नित किए गए हैं जो परिवार में किसी सदस्य की बीमारी के कारण गरीबी रेखा से नीचे चले गए थे। यह एक संकट मोचन योजना है किसी भी परिवार को साहूकार के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

गृहमंत्री ने कहा कि हेल्थ केयर सेंटर के साथ-साथ हेल्थ प्रोटेक्शन कवर भी दिया जा रहा है। मीडिया ने इस योजना को मोदी कवर का नाम दिया है लेकिन मैं इसे मोदी कवच के रूप में देखता हूं। इससे हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स को भी काम मिलेगा। कहा कि तीन लाख सर्विस सेंटर पूरे देश में खुलेंगे। उन्होंने कहा कि हम जल्दी ही नेशनल हेल्थ डिजिटल अथॉरिटी की स्थापना करने जा रहे हैं। केंद्र सरकार ने इसका फैसला लिया है। इससे हेल्थ क्षेत्र में एफिशिएंसी बढ़ेगी और चिकित्सा पर होने वाला खर्च काफी कम होगा। इस योजना के तहत फ्री इमरजेंसी की सुविधा रहेगी। 

राज्यपाल बोले- गरीबों के लिए वरदान

राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि यह सबसे बड़ी सोच वाली स्वास्थ्य योजना है। इसकी नींव पंडित दीनदयाल उपाध्याय के दर्शन पर आधारित है। उन्होंने ही अंत्योदय का विचार हमारे सामने रखा और अब प्रधानमंत्री नोदी इसको बखूबी लागू कर रहे हैं।

राज्यपाल ने कहा कि यह गरीबों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। हमारे यहां जब नमस्कार किया जाता है तो नमस्कार करने वाले को शतायु भव: का आशीर्वाद दिया जाता है। फिर हंसते हुए कहा कि मैं तो 85 साल का हो गया हूं। मेरे शतायु होने में सिर्फ 15 साल ही शेष हैं लेकिन यह योजना एक एवरेस्ट शिखर के समान है, जो लोगों को स्वस्थ होने में मददगार साबित होगी। 

इस समय रांची से प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का लाइव प्रसारण भी इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान के कार्यक्रम स्थल पर दिखाया जा रहा है। 

x

Check Also

पूर्व मंत्री राम आसरे विश्वकर्मा ने बूथ कार्यकर्ताओं को लेकर कह दी ये बड़ी बात

फूलपुर।। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री राम आसरे विश्वकर्मा इन दिनों अपनी ...