5AC423FB902F99F7B04A6C0E44CE75FA

इंतजार हुआ खत्म, अब चेहरा छिपाकर आप खुद को बचा नहीं सकते, इस तकनीक से आसानी से होगी पहचान

डेस्क ।। चीन के वैज्ञानिकों ने ऐसा सर्विलांस टूल सॉफ्टवेयर तैयार किया है, जिसमें इंसान की पहचान के लिए उसका चेहरा देखने की जरूरत नहीं है। गेट रिकगनीशन तकनीक कही जाने वाली यह विचित्र प्रणाली इंसान के चाल-ढाल और उसके कद-काठी से ही उसकी पहचान बता देगी।

शंघाई और बीजिंग पुलिस इस मशीन कर प्रयोग भी कर रही है। मशीन बनाने वाली कंपनी वर्टिक्स के सीईओ हौंग योंगझोन ने कहा है कि यह मशीन आदमी को पचास मीटर (165 फीट) दूर से ही पहचान लेगी। आदमी ने चेहरा छिपा रखा है तब भी मशीन उसे पहचान लेगी।

पढ़िए- इस महिला का एलियन ने किया है कई बार बलात्कार, करा चुकी है 18 बार अबॉर्शन

कैसे काम करती है मशीन?

यह सॉफ्टवेयर किसी वीडियो से व्यक्ति की छायाकृति निकाल लेता है। उसी के आधार पर व्यक्ति के कद-काठी, चलने के अंदाज आदि का विश्लेषण करता है। हालांकि यह रियल टाइम पहचान करने में असमर्थ है। इसमें वीडियो डालना पड़ेगा। एक घंटे के वीडियो से यह दस मिनट में नतीजे खोज लेगा। इसके लिए विशेष कैमरों की जरूरत नहीं होती है। सॉफ्टवेयर सर्विलांस कैमरों के फुटेज देखकर विश्लेषण कर लेगा।

अभी तक जितनी भी पहचान करने की विधियां हैं उसमें आदमी को उस तकनीक के बेहद करीब जाना पड़ता है। चाहे रेटिना स्कैन हो, फिंगर प्रिंट हो, लेकिन इस मशीन में ऐसा कुछ करने की जरूरत नहीं होगा। अगर कोई इससे छिपकर भागना भी चाह रहा है तो उसे भी पहचान लिया जाएगा। मशीन आदमी की चाल, त्वचा, बाल, नाखून से भी पहचान करने में सक्षम है।

सवाल के घेरे में तकनीक

जापान नेशनल पुलिस एजेंसी में गेट रिकगनीशन तकनीक को 2013 में प्रायोगिक तौर पर लागू करने का जिम्मा संभालने वाले ओसाका विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर का मानना है कि यह तकनीक नई नहीं है। जापान, ब्रिटेन और अमेरिका के वैज्ञानिक एक दशक से इस तकनीक पर शोध कर रहे हैं।

फोटो- फाइल

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com