5AC423FB902F99F7B04A6C0E44CE75FA

सेब के ट्रक और चूड़ियों के संदेश, घाटी में पाकिस्तान की नापाक हरकतों का डोभाल ने किया खुलासा

नई दिल्ली ।। हिंदुस्तान ​देश के कश्मीर राज्य के ताजा हालातों को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने प्रतिक्रिया व्यक्ति की है। डोभाल ने कहा है कि हम पाक आतंकवादियों से कश्मीरियों के जीवन की रक्षा के लिए प्रतिबद्र है। भले ही इसके लिए हमें प्रतिबंध लगाना पड़े। उनने कहा है कि आतंकवाद ही एकमात्र ऐसा साधन है कि जिसे पाक पैदा कर सकता है।

डोभाल ने कहा है कि पाक कश्मीर में परेशानी पैदा करने की पूरी कोशिश कर रहा है। 230 पाक आतंकवादियों की पहचान हुई है जिनमें से से कुछ भागने में कामयाब रहे और कुछ को अरेस्ट कर लिया गया है। कश्मीर के 199 थाना क्षेत्रों में से केवल 10 में ही प्रतिबंध के आदेश हैं। बाकी क्षेत्रों में कोई प्रतिबंध नहीं है। राज्य में 100 प्रतिशत लैंड लाइन कनेक्शन चालू हैं। कश्मीर के भौगोलिक क्षेत्र का 92.5 प्रतिशत हिस्सा प्रतिबंधों से मुक्त है।

पढ़िए-हिंदुस्तान ने पाकिस्तान को अब तक के सबसे तीखे अंदाज में दी नसीहत, कहा- बंदूक तानकर…

आतंकियों की हरकतों का खुलासा करते हुए डोभाल ने बताया है कि श्रीनगर से 750 से अधिक ट्रक रोजाना जा रहे है। कल 2 आतंकवादी आये है। वे एक प्रमुख फल व्यापारी हमीदुल्ला राथर को निशाना बनाना चाहते थे। वे उसे ढूंढ नहीं पाये क्योंकि वह नमाज़ अदा करने के लिए गया था। ऐसी ही एक दूसरी घटना भी हुई जहां एक दुकानदार अपनी दुकान खोल रहा था। उसे आतंकवादियों ने गोली मार दी है। पाक खुद ऐसी स्थितियां पैदा कर रहा है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कह रहा है कि यहां समस्या है।

एनएसए ने कहा है कि हम सभी प्रतिबंधों को खत्म देखना चाहते हैं जो इस बात पर निर्भर करता है कि पाक कैसे व्यवहार कर रहा है। यदि पाक आतंकवादी घटनाओं को भेजना बंद करता है या घुसपैठ कराना बंद करता है और अपने टावरों से ऑपरेटर्स को सिग्नल भेजना बंद कर देता है। तो हम सारे प्रतिबंध खत्म कर देंगे।

Loading...

डोभाल ने कहा है कि मैं पूरी तरह से आश्वस्त हूं कि अधिकांश कश्मीरी लोग धारा 370 को हटाने का समर्थन करते हैं। ज्यादातर लोग कश्मीर इस मौके को आर्थिक विकास के नए अवसर की तरह देख रहा हैं। केवल कुछ उपद्रवी लोग ही इसका विरोध कर रहे हैं। सेना के अत्याचारों से संबंधित खबरों को बेबुनियाद करार देते हुए डोभाल ने कहा है कि सेना के अत्याचारों का कोई सवाल ही नहीं उठता है। वहां केवल राज्य पुलिस कश्मीर और कुछ केंद्रीय बल सार्वजनिक सुरक्षा व्यवस्था संभाल रहे हैं। इन्डियन आर्मी आतंकियों से लड़ने के लिए तैयार है।

सीमा के साथ 20 किलोमीटर की दूरी पर पाक संचार टावर हैं। वे संदेश भेजने की कोशिश कर रहे हैं। हमने बातचीत सुनी है। वे यहां अपने आदमियों को बता रहे है। कितने सेब के ट्रक चल रहे हैं। क्या आप उन्हें रोक नहीं सकते हैं। क्या हमें आपको चूड़ियाँ भेजनी चाहिए। कश्मीर में राजनीतिक नेताओं की नजरबंदी से संबधित सवाल का जवाब देते हुए डोभाल ने कहा कि सब कुछ कानून के अनुसार किया गया है और वे अपनी नजरबंदी को कोर्ट में चुनौती दे सकते है।

उनने कहा है कि अगर नेता सभा करते है तो इससे हालात बिगड़ सकते थे और आतंकी संभाओं में घुसकर इसका फायदा उठा सकते है। डोभाल ने कहा कि कश्मीर में हालात सुधर रहे हैं। उनने कहा है कि केवल 6 अगस्त को एक घटना की सूचना मिली है। जिसमें एक जवान लड़के ने दम तोड़ दिया था। वह गोली से नहीं मरा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि उनकी मृत्यु हो गई क्योंकि कुछ सख्त वस्तु से उसे चोट पहुंची थी। इतने दिनों में सिर्फ एक घटना की सूचना मिली है हम आतंकवाद प्रभावित क्षेत्रों के बारे में बात कर रहे हैं।

ढाई साल की बच्ची आसमा जान जो कल सोपोर में आतंकवादियों के हमले में घायल हो गई है। उसकी हालत गम्भीर है। एनएसए अजीत डोभाल ने अफसरों से उसे नई दिल्ली के एम्स लाने के लिए कहा है।

फोटो- फाइल

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com