पहेली बनी इस देश के लोगों की उम्र, एक महीने के अंदर 2 साल के हो जाते हैं बच्चे!

पूरी दुनिया में कोरियाई लोग अपनी खूबसूरती और यंग लुक के लिए जाने जाते हैं। आपको बता दें कि कोरियाई लोगों की तरह दूसरे लोग भी ग्लोइंग स्किन पाने के लिए तरह-तरह के तरीके अपनाते हैं। हालांकि यहां के लोगों की उम्र एक पहेली बनी हुई है। यहां के लोगों की उम्र चुटकी में बढ़ जाती है। बच्चे के जन्म के कुछ हफ्ते बाद उसकी उम्र 2 साल तक गिनी जाती है।

दक्षिण कोरिया में उम्र की गणना करने का अलग तरीका
बहुत कम लोग जानते हैं कि दक्षिण कोरिया में लोगों की उम्र निर्धारित करने का कोई एक तरीका नहीं है। यहां लोगों की उम्र की गणना कई पुराने तरीकों से की जाती है। हमारे देश की तरह, किसी व्यक्ति की उम्र उसके जन्म के दिन और वर्ष से निर्धारित होती है। जबकि दक्षिण कोरिया में इसका तरीका थोड़ा अलग है। यहां व्यक्ति की उम्र साल बदलने के साथ बदलती है।

एक बच्चा पैदा होते ही एक साल का माना जाता है
वास्तव में, दक्षिण कोरिया में उम्र की गणना करने का कोई अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त तरीका नहीं है। दक्षिण कोरिया में जब बच्चे का जन्म होता है तो उसे एक साल का माना जाता है। यह दक्षिण कोरिया में उम्र की गणना करने का सबसे लोकप्रिय तरीका है। ऐसे में अगर दक्षिण कोरिया में किसी बच्चे का जन्म दिसंबर में होता है तो जनवरी शुरू होते ही उसे 2 साल का माना जाता है. वहीं, 1 दिन के बच्चे की उम्र को भी एक साल का माना जाता है।

1 जनवरी को उम्र बढ़ जाती है
यहाँ उम्र की गणना करने का एक और तरीका है। जब किसी बच्चे का जन्म होता है तो उसके पैदा होते ही उसकी उम्र जीरो मानी जाती है और हर साल 1 जनवरी को उसकी उम्र बढ़ जाती है। इसका बच्चे के जन्म के महीने या तारीख से कोई लेना-देना नहीं है। रिपोर्ट के मुताबिक अब दक्षिण कोरिया में उम्र की गणना का आधिकारिक तरीका बनने जा रहा है। अगर यह कानूनी हो जाता है तो यहां के लोगों के पास दस्तावेजों के लिए अचानक एक साल की कमी हो जाएगी। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, राष्ट्रपति का कहना है कि इससे जहां असमंजस की स्थिति है, वहीं सामाजिक और आर्थिक नुकसान भी हो रहा है.