कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर सख्त हुई उत्तराखंड सरकार, अफसरों को दिए ये आदेश

24 नवंबर को साउथ अफ्रीका में विश्व स्वस्थ्य संगठन को इस वायरस के ओमाइक्रोन वेरिएंट की खोज की खबर दी गई थी

कोरोना वायरस के नए संस्करण ‘ओमाइक्रोन’ को लेकर दुनिया भर के देश सतर्क हो गए हैं। भारत ने ‘जोखिम’ श्रेणी वाले देशों से आने वाले या उन मुल्कों के माध्यम से भारत आने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर परीक्षण रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है। साथ ही सैंपल टेस्ट की रिपोर्ट आने तक यात्री को हवाई अड्डे से बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा।

covid-19

पॉजिटिव आने पर उन्हें आइसोलेशन सेंटर भेजा जाएगा। वहीं निगेटिव आने के बावजूद 7 दिन होम क्वारंटाइन रहेगा और 8वें दिन दोबारा टेस्ट करवाना अनिवार्य है।

आपको बता दें कि 24 नवंबर को साउथ अफ्रीका में विश्व स्वस्थ्य संगठन को इस वायरस के ओमाइक्रोन वेरिएंट की खोज की खबर दी गई थी। देश में अभी तक इस वेरिएंट का कोई मामला सामने नहीं आया है। हालांकि कई प्रदेश सरकारों ने सर्विलांस टीम को अलर्ट घोषित कर दिया है और जिला प्रशासन को एहतियाती कदम उठाने के निर्देश भी दिए हैं।

बाहर से आने वाले लोगों (कोविड के लक्षण) की जांच हो- उत्तराखंड सरकार:

वहीं इस बात का भी पता चला है कि उत्तराखंड सरकार ने सभी जनपदों को निर्देश जारी किया है कि राज्य के बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण हों। देखते ही उसका परीक्षण किया जाए और संक्रमित पाए जाने पर उसे 14 दिन के क्वारंटाइन में रखा जाए। प्रदेश के अलग अलग सीमा प्रवेश बिंदुओं पर परीक्षण किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close