यूपी के इस जिले में फर्जी दस्तावेजों से जमानत करा खुले में घूम रहे 125 शातिर अपराधी!

फर्जी दस्तावेज तैयार करने वाले गिरोह में वकील और विभागीय कर्मचारी भी शामिल

देश को झकझोर देने वाली घटना बिकरु कांड के बाद से पुलिस लगातार अपराधियों के खिलाफ शिकंजा कस रही है। इसी घटना से पुलिस को ऐसी जानकारी मिली जो सभी को स्तब्ध कर देने वाली है। जानकारी के मुताबिक शहर में फर्जी दस्तावेज तैयार करा जमानत कराने वालों का गिरोह सक्रिय है।

Kanpur in fake

यह गिरोह अब तक जनपद के 125 शातिर अपराधियों को जाली दस्तावेजों के जरिये सलाखों से बाहर निकलवा चुका है और गिरोह में वकील से लेकर विभागीय कर्मचारी शामिल हैं। पुलिस ऐसे गिरोह की तलाश में छानबीन तेज कर दी है और आलाधिकारी गिरोह से जुड़े लोगों पर सख्त कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं।

बिकरु कांड में सीओ समेत आठ पुलिस कर्मियों की शहादत के बाद से पुलिस जनपद के अपराधियों की कुंडली खंगाल रही है कि कौन अपराधी कब जेल गया और कैसे बाहर आया। इसी में कानपुर पुलिस को जानकारी हुई कि जनपद में एक ऐसा गिरोह चल रहा है जो शातिर अपराधियों की जमानत फर्जी दस्तावेजों के ज​रिये करा रहा है।

इस पर पुलिस ने ऐसे सभी अपराधियों की जानकारी जुटाई तो पता चला कि अब तक 125 शातिर अपराधी गिरोह के जरिये जमानत कराकर खुले में घूम रहे हैं। फर्जी दस्तावेज तैयार करने वाले गिरोह के लोग इतने शातिर होते हैं कि जिनको जमानतदार बनाते हैं उसका न तो कोई मकान होता है और न ही उसका कोई ठिकाना है।

ऐसे में जेल से छूटे शातिर अपराधी समाज के लिए सदैव खतरा बने रहते हैं।  गिरोह में वकील और विभागीय कर्मचारियों के भी शामिल होने की आशंका जताई जा रही है। यह गिरोह कचहरी से लेकर आरटीओ तक फैला हुआ है और शातिर अपराधी इनके ग्राहक बने हुए हैं। फर्जी जमानत गिरोह की जानकारी होने पर पुलिस प्रशासन ने कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। ऐसे फर्जी जमानत गिरोह की तलाश पुलिस ने शुरू कर दी है।

पुलिस अधीक्षक पश्चिम डा. अनिल कुमार का कहना है कि गिरोह के सदस्यों की तलाश के लिए पुलिस की कई टीमें बनाई गई हैं जो फर्जी जमात गिरोह का पता लगाएगी और उन पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। बताया कि जमानत पर बाहर आए ऐसे सभी 125 अपराधियों को जेल भेजा जाएगा। अगर विभागीय कर्मचारियों की मिलीभगत सामने आती है तो उन पर भी एफआईआर दर्ज कराई जायेगी।

पेशे को कलंकित कर रहे कुछ अधिवक्ता

वरिष्ठ अधिवक्ता अनंत शर्मा ने बताया कि कुछ तथाकथित वकील पूरे पेशे को खराब कर रहे हैं। फर्जी तरीके से जमानत करा कर अपराधियों को बाहर ला रहे हैं ऐसे लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए। बार एसोसिएशन के पदाधिकारी भी भी चाहते हैं कि वकील के पेशे को कलंकित करने वाले तथाकथित वकीलों पर कार्यवाही हो जो गलत तरीके से जमानत कराने वाला गिरोह चला रहे हैं।

वरिष्ठ अधिवक्ता अनंत शर्मा ने बताया कि ऑनलाइन वेरिफिकेशन प्रक्रिया होती है उससे भी जांच कराई जाए जिससे कि फर्जी तरीके से वेरिफिकेशन वाले ग्रुप का भंडाफोड़ हो सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *