कोरोना के बाद अब इस नए फ्लू ने दी दस्तक, इस राज्य में 80 से ज्यादा बच्चे हुए बीमार

कोरोना महामारी का संकट अभी पूरी तरह से खत्म भी नहीं हुआ था कि एक नई बीमारी ने दस्तक दे दी है। इस बीमारी को टोमैटो...

नई दिल्ली। कोरोना महामारी का संकट अभी पूरी तरह से खत्म भी नहीं हुआ था कि एक नई बीमारी ने दस्तक दे दी है। इस बीमारी को टोमैटो फीवर या टोमैटो फ्लू कहा जा रहा है। केरल में इस बीमारी ने 80 से अधिक बच्चों को अपनी चपेट में ले लिया है। इनमें से अधिक बच्चों की उम्र पांच साल से कम है। आइए जानते हैं इस बीमारी के बारे में…

Tomato flu
क्या है टोमैटो फीवर?

डॉक्टर्स का कहना है कि टोमैटो फीवर एक वायरल इंफेक्शन है। ये अधिकतर पांच साल से कम उम्र के बच्चों को अपना शिकार बना रहा है। इस वायरल इंफेक्शन का नाम टोमैटो फ्लू इसलिए रखा गया है क्योंकि इस फ्लू से संक्रमित होने पर बच्चों के शरीर पर टमाटर की ही तरह से लाल-लाल दाने पड़ जा रहे हैं जिससे उन्हें त्वचा पर जलन और खुजली की दिक्कत हो रही है। डॉक्टर्स बता रहे हैं कि इस बीमारी से संक्रमित होने वाले बच्चों को तेज बुखार भी आ रहा है। साथ ही डिहाइड्रेशन की समस्या भी हो रही और शरीर व जोड़ों में भी दर्द की भी शिकायत हो रही है।

प्रमुख लक्षण

डिहाइड्रेशन।
स्किन रैशेज।
त्वचा में इर्रिटेशन या खुजली।
शरीर पर टमाटर जैसे चकत्ते और दाने।
तेज बुखार।
शरीर और जोड़ों में दर्द।
जोड़ों में सूजन।
पेट में ऐंठन और दर्द।
जी मिचलाना, उल्टी और दस्त।
खांसी, छींक और नाक बहना।
हाथ के रंग में बदलाव।
मुंह सूखना।
अत्यधिक थकान।
स्किन में जलन।
टोमैटो फ्लू के कारण?

बचाव के तरीके

संक्रमित बच्चे को उबला हुआ साफ पानी पिलायें ताकि वह हाइड्रेटेड रहे।
बच्चे को फफोले या रैशेज पर खुजली करने से मना करें।
घर और बच्चे के आसपास साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें।
बच्चे को पानी से नहलाएं।
संक्रमित बच्चे से थोड़ी दूरी बनाकर रखें।
हेल्दी डाइट दें।
बच्चे में ऊपर बताए गए कोई भी लक्षण नजर आने पर तत्काल डॉक्टर से सलाह लें।