Song ‘तुम तो ठहरे परदेसी’ को गाकर Altaf Raja रातों रात हुए थे हिट, जानिए अब क्या कर रहे हैं?

Tum To Thahre Pardesi: हमारे देश में कई ऐसे गायक हैं, जिन्होंने सीधे अपनी आवाज से लोगों के दिलों में जगह बनाई है. ऐसे गायकों में अल्ताफ राजा का नाम आता है, जो एक जाने-माने गायक हैं। उन्होंने 90 के दशक में गाना शुरू किया था और उनका पहला ही गाना इतना हिट हुआ था कि रातों-रात स्टार बन गए थे, लेकिन क्या आप जानते हैं कि अल्ताफ राजा अब कहां हैं?

Altaf Raja

‘तुम तो ठहरे परदेसी’ गाना हुआ हिट

अल्ताफ राजा का जन्म ऐसे परिवार में हुआ था जहां उनके माता-पिता कव्वाली गाया करते थे, लेकिन इसके बावजूद अल्ताफ ने कभी गाने के बारे में नहीं सोचा। हालांकि, एक बार वह फिरोज खान और नरगिस की फिल्म ‘रात और दिन’ का गाना ‘दिल की गिरा खोल दो’ सुन रहे थे, जो उनके दिल को छू गया, जिसके बाद उन्होंने फैसला किया कि अब उन्हें सिंगर बनना है।

अल्ताफ राजा ने अपने सिंगिंग करियर की शुरुआत साल 1994 में रिलीज हुए गाने ‘तुम तो ठहरे परदेसी’ से की थी। हालांकि उनका पहला ही गाना इतना हिट हुआ कि वह रातों-रात स्टार बन गए और उनका यह गाना दिलों के साथ-साथ जुबान पर भी था। सभी उम्र के लोगों की।

उनका यह गाना भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाला एकल एलबम है। वहीं इसकी लोकप्रियता को देखते हुए इसका नाम ‘गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स’ में भी दर्ज है। ‘तुम तो रहो परदेसी’ ने रातों-रात सभी की नजरों में अल्ताफ राजा को ला दिया था और उनका नाम बड़े-बड़े गायकों में शामिल होने लगा था। तो आइए अब आपको बताते हैं कि अल्ताफ राजा अब कहां हैं

अल्ताफ राजा इन दिनों कहां हैं?

अल्ताफ राजा के बारे में कहा जाता है कि वह इंडस्ट्री से दूर हैं। हालांकि ऐसा नहीं है, लेकिन उन्होंने खुद अपने एक इंटरव्यू में इस बात का जिक्र किया था कि वह अभी भी इंडस्ट्री का हिस्सा हैं और हमेशा गाने गाते हैं।

गौरतलब है कि साल 2021 में उन्होंने एमएक्स प्लेयर पर वेब सीरीज ‘इंदौरी इश्क’ में भी अपनी आवाज दी थी। वहीं गुजराती फिल्म ‘सोनू तने मारा पर भरोसा नई के’ में उन्होंने इसी नाम से एक कव्वाली गाना भी गाया है, जो गुजराती भाषा का पहला कव्वाली गाना है.