अमेरिका ने चीन के साथ-साथ इस देश को दी ये बड़ी धमकी, लगाया ये बड़ा आरोप

यूएसए के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने बताया- चीन और रूस अपनी फौजों का तेजी से आधुनिकीकरण कर अपनी बढ़ती ताकत का उपयोग इंटरनेशनल कानूनों की ‘‘अनदेखी’’ करने और छोटे मुल्कों की संप्रभुता का ‘‘उल्लंघन’’ कर सत्ता सन्तुलन को अपने पक्ष में प्रभावित करने में कर रहे हैं।

न्यूयॉर्क॥ यूएसए के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने बताया- चीन और रूस अपनी फौजों का तेजी से आधुनिकीकरण कर अपनी बढ़ती ताकत का उपयोग इंटरनेशनल कानूनों की ‘‘अनदेखी’’ करने और छोटे मुल्कों की संप्रभुता का ‘‘उल्लंघन’’ कर सत्ता सन्तुलन को अपने पक्ष में प्रभावित करने में कर रहे हैं।

‘अटलांटिक काउंसिल थिंक टैंक’ को सम्बोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने चीन की ’वन बेल्ट वन रोड’ पहल पर भी हमला बोला और कहा कि बीजिंग इस परियोजना का उपयोग एशिया, यूरोप, अफ्रीका और यूएसए में अपने वित्तीय संबंधों का विस्तार करने के लिए कर रहा है और इसके पीछे उसका ‘‘परोक्ष’’ लक्ष्य रणनीतिक प्रभाव प्राप्त करना, पूरे विश्व के प्रमुख संसाधनों और सैन्य तलहटी तक पहुंच हासिल करना है।

रक्षा मंत्री मार्क ने कहा कि हमारे प्रमुख प्रतिद्वंद्वी, चीन और रूस, तेजी से अपने सशस्त्र बलों का आधुनिकीकरण कर रहे हैं और अपनी बढ़ती ताकत का इस्तेमाल अंतरराष्ट्रीय कानून की अनदेखी करने, छोटे प्रदेशों की सम्प्रभुता का उल्लंघन करने और सत्ता के संतुलन को अपने पक्ष में करने के लिए कर रहे हैं।

उन्होंने इल्जाम लगाया कि साउथ चीन सागर में चीन के सैन्यीकरण और रूस द्वारा क्रीमिया पर कब्ज़ा करने और पूर्वी यूक्रेन में घुसपैठ, उनकी दूसरों की स्वायत्तता छीनने और अमेरिकी सुरक्षा के लिए अहम मुल्कों और संस्थानों (नाटो समेत) के लचीलेपन और सामन्जस्य को कम करने के उनके प्रयासों को दर्शाती है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *