अयोध्या में मिली प्राचीन मूर्तियाँ, फिर निशाने पर इरफान हबीब और रोमिला थापर क्यों?

सुप्रीम कोर्ट के राम मंदिर के हक़ में फैसला आने के बाद इन दिनों अयोध्या में राम जन्मभूमि के समतलीकरण (Land leveling in Ayodhya) का काम हो रहा है, ताकि वहां सुप्रीम कोर्ट के फैसले के तहत भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जा सके। समतलीकरण के दौरान वहां से देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां मिल रही हैं, जिससे ये बात और पुख्ता हो जाती है कि वहां पर पहले मंदिर था।

वहीं इसी बीच अचानक ट्विटर पर इरफान हबीब (Irfan Habib) ट्रेंड करने लगे और पता चला कि वह भी इन खंडित मूर्तियों के मिलने की वजह से ही ट्रेंड कर रहे हैं। ट्विटर पर लोग इतिहासकार इरफान हबीब और रोमिला थापर (Romila Thaper) पर हमले करते दिखे। वह उनसे माफी मांगने के लिए कह रहे थे, लेकिन सवाल ये है कि क्यों?

आपको बता दें कि दरअसल, इरफान हबीब ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाए थे। उन्होंने तो सुप्रीम कोर्ट की इस बात को भी मानने से इनकार कर दिया था कि 1856-57 से पहले अयोध्या में नमाज नहीं पढ़ी जाती थी। वह पहले से ही इस बात के खिलाफ हैं कि विवादित भूमि पर कभी मंदिर था।
उन्हीं की तरह इतिहासकार रोमिला थापर ने भी आर्कियोलोजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की खुदाई में मिले सबूतों को मानने से इनकार कर दिया था। उन्होंने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को भी स्वीकार नहीं किया था। यही वजह है कि लोग ट्विटर पर दोनों को ही खरी खोटी सुना रहे थे, आइए जानते हैं लोग क्या बोले।

सबसे खास प्रतिक्रिया भाजपा की ओर से आई है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि सच को दबा सकते हैं, लेकिन अधिक दिनों तक छुपा नहीं सकते, एक दिन वह सामने जरूर आ जाता है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर के निर्माण के लिए हो रही खुदाई के समय सामने आईं दुर्लभ मूर्तियां जय जय श्रीराम।

22 मई 2020 राशिफल: इन राशि वालों का संतान के दायित्व की पूर्ति होगी, शिक्षा के क्षेत्र में आशातीत सफलता मिलेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com