और जब जवानों ने रोकी मंत्री जी की गाड़ी, फिर जो हुआ उसे जान आप की सोच बदल जाएगी

दरअसल मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पुलिसकर्मियों के साहस से इतने प्रभावित हो गए कि अगले दिन उनका सम्मान करने पुलिस लाइन पहुंच गए। यहां उन्होंने पुलिस कर्मियों का सम्मान किया और उनके कार्य की तारीफ भी की।

ग्वालियर। आपने अमूमन पुलिस द्वारा किसी राजनेता के गाड़ी को चेकिंग के लिए रोके जाने पर नाराजगी की खबरें तो देखी और सुनी होंगी। लेकिन शिवराज सरकार के कैबिनेट मंत्री की गाड़ी जब पुलिस वालों ने चेकिंग के लिए रोकी तो वह गदगद हो गए।

एमपी के ग्वालियर में जो हुआ है, उसके बारे में जानने के बाद आपकी सोच बदल जाएगी। दरअसल मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पुलिसकर्मियों के साहस से इतने प्रभावित हो गए कि अगले दिन उनका सम्मान करने पुलिस लाइन पहुंच गए। यहां उन्होंने पुलिस कर्मियों का सम्मान किया और उनके कार्य की तारीफ भी की।

Minister's car

ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर अपने अंदाज को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहते हैं। प्रद्युमन सिंह तोमर ने हाल ही में उपचुनाव में जीत हासिल की है। अपने इलाके में मंत्री जी कभी टॉयलेट, कभी नली और कभी नाले की सफाई कर सुर्खियों में रहते हैं। इस बार उन्होंने ऐसा किया है, जिससे पुलिस वालों का दिल जीत लिया है। पुलिस वालों की मुस्तैदी देख कर वह नाराज नहीं हुए बल्कि अगले दिन उन्हें सम्मानित करने पुलिस लाइन पहुंच गए।

पुलिस ने रोकी मंत्री जी की गाड़ी तो नहीं हुए नाराज, उल्टा किया सम्मान और दिया नकद इनाम

क्या है मामला

दरअसल, शनिवार की रात कैबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर अपने विधानसभा क्षेत्र में बिना फॉलो गाड़ी के कई शादी समारोह में शामिल होकर रात में वापस अपने घर लौट रहे थे। उन्हें हजीरा पुलिस ने चार शहर के नाके पर रोक लिया और उनकी गाड़ी को चेक किया। मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पुलिसकर्मियों के इस साहस के मुरीद हो गए। उन्होंने इन पुलिसकर्मियों का हौसला बढ़ाने के लिए सम्मानित किया है।

पुलिस लाइन में किया सम्मानित

मंत्री प्रद्युमन ने कहा कि शहर की कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए पुलिस जवानों ने जो मुस्तैदी दिखाई है, वो काबिले तारीफ है। लेकिन उन्होंने पुलिस को यह भी ताकीद किया कि वाहन चेकिंग के नाम पर अनावश्यक किसी गरीब व्यक्ति को परेशान ना किया जाए। उन्होंने चेकिंग करने वाले हजीरा टीआई मनोज कुमार शर्मा और उनके स्टॉफ को नकद इनाम भी दिया है।

मंत्री की तरफ से पुलिसकर्मियों को सम्मानित किए जाने के कदम को ग्वालियर पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने भी सराहा है। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों को इस तरह प्रोत्साहित करने से उनका मनोबल बढ़ता है और अपराधियों के हौसले पस्त होते हैं। एसपी ने भी अपने स्टॉफ के लोगों की हौसला अफजाई की है।

पहले भी कर चुके हैं ऐसा

एमपी के उर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर अपनी सादगी के लिए हमेशा चर्चा में रहते हैं। एक बार मंत्री के बेटे ने पुलिसकर्मियों पर रौब दिखाया था। मंत्री को जैसे ही यह खबर लगी तो वह बेटे को लेकर पुलिस स्टेशन पहुंच गए थे। मंत्री के बेटे ने पुलिस स्टेशन पहुंच कर जवानों से माफी मांगी थी। साथ ही प्रद्युमन सिंह तोमर बेटे को साथ ले जाकर टॉयलेट साफ करवाई थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *