कृषि कानून के विरोध में गिरफ्तार, इस दल के सभी नेता रिहा, राज्यपाल को नहीं दे सके ज्ञापन

कृषि कानून के विरोध में पंजाब से किसान यात्रा लेकर चंडीगढ़ पहुंचे अकाली दल के नेताओं की गिरफ्तारी के करीब दो घंटे बाद रिहा कर दिया गया

चंडीगढ़, 02 अक्टूबर यूपी किरण। कृषि कानून के विरोध में पंजाब से किसान यात्रा लेकर चंडीगढ़ पहुंचे अकाली दल के नेताओं की गिरफ्तारी के करीब दो घंटे बाद रिहा कर दिया गया लेकिन अकाली नेता राज्यपाल को ज्ञापन नहीं दे सके। अकाली नेताओं ने एकजुटता के साथ केंद्र के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है।
   
अकाली नेताओं की गिरफ्तारी के बाद कई घंटे तक चंडीगढ़ के सैक्टर-17 पुलिस थाने के बाहर व भीतर हाईवोल्टेज पॉलिटिकल ड्रामा चलता रहा। चंडीगढ़ पुलिस सभी अकाली नेताओं को गिरफ्तार करके सैक्टर 17 के पुलिस थाने में लेकर आई। जहां सुखबीर बादल, हरसिमरत बादल, प्रेम सिंह चंदूमाजरा, दलजीत सिंह चीमा, एन.के शर्मा समेत करीब दो दर्जन नेताओं को पुलिस थाने के भीतर बिठाया गया जबकि कार्यकर्ताओं ने पुलिस थाने के बाहर पंजाब व केंद्र सरकार के विरुद्ध धरना दिया। करीब दो घंटे बाद पुलिस थाने से रिहा हुए सुखबीर बादल ने कहा कि अकाली नेता राज्यपाल को मिलना चाहते थे लेकिन पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। राज्यपाल का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि उनसे ज्ञापन लेने से इनकार कर दिया गया।
पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि किसानों के हक के पक्ष में आवाज उठाने के बदले उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है लेकिन हम सच्चाई की पैरवी कर रहे हैं। आने वाले दिनों में संघर्ष को तेज किया जाएगा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *