धरती के बेहद करीब से गुजरा ऐस्टरॉयड, जानिए नासा को क्यों नहीं चल सका पता

एक ऐस्टरॉयड धरती के करीब से गुजर गया और स्पेस एजेंसियों को इसका पता भी नहीं चल पाया। मीडिया रिपोर्ट्स के

नयी दिल्ली। एक ऐस्टरॉयड धरती के करीब से गुजर गया और स्पेस एजेंसियों को इसका पता भी नहीं चल पाया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,  यह ऐस्टरॉयड धरती से सिर्फ 300 मील से भी कम दूरी से गुजर गया। इस  ऐस्टरॉइड  का नाम 2020VT4 है। ये ऐस्टरॉयड 13 नवंबर को धरती के 250 मील यानी 400 किमी दूर से गुजरा और ऐस्ट्रोनॉमर्स को पता नहीं चला। ऐस्ट्रोनॉमर्स  को तब पता चल सका जब ये धरती से बाहर निकल गया था।

Asteroid

इतनी करीब से निकला ऐस्टरॉइड

दरअसल, यह ऐसी जगह से आया था जिसे ‘Blind Spot’ कहते हैं यानी यह ऐस्टरॉयड सूरज की दिशा से आया था। ऐस्ट्रोनॉमर्स का कहना है कि यह ऐस्टरॉयड धरती से इतना करीब था कि धरती के गुरुत्वाकर्षण ने इसकी कक्षा को बदल दिया। ऐस्ट्रोनॉमर्स टोनी डन ने बताया, ‘हाल की में खोजा गया A10sHcN ऐस्टरॉइड धरती के करीब से दक्षिण प्रशांत महासागर के ऊपर से गुजरा।’ डन का कहना है कि अभी यह ऐस्टरॉयड अभी और भी कई बार धरती के करीब से गुजरेगा।

धरती को नहीं है कोई खतरा

इसका आकार सिर्फ 5 से 10 मीटर के बीच है। इसलिए इससे धरती को कोई खतरा नहीं है। अगर यह धरती के वायुमंडल में दाखिल भी होता है तो भी यह फौरन जलकर टुकड़े-टुकड़े हो जाएगा और धरती पर गिरने का खतरा नहीं होगा। इससे पहले अगस्त में कार के आकार का ऐस्टरॉयड 2020 QG धरती से सिर्फ 2000 मील दूर से गुजरा था।

NASA रखता है नजर

अगर किसी तेज रफ्तार स्पेस ऑब्जेक्ट के धरती से 46.5 लाख मील से करीब आने की संभावना होती है तो उसे स्पेस ऑर्गनाइजेशन्स खतरनाक मानते हैं। NASA का Sentry सिस्टम ऐसे खतरों पर पहले से ही नजर रखता है। इसमें आने वाले 100 सालों के लिए फिलहाल 22 ऐसे ऐस्टरॉयड्स हैं जिनके पृथ्वी से टकराने की थोड़ी सी भी संभावना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *