अयोध्या जमीन विवाद- सीएम आवास को महिला कांग्रेस कार्यकर्ता ने घेरा, दर्जनों गिफ्तार

सोमवार को इस मामले को लेकर महिला कांग्रेस कार्यकत्रियों ने राजधानी स्थित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास पर विरोध प्रदर्शन कर गिरफ्तारी दी।

लखनऊ। अयोध्या में राम मंदिर के लिए जमीन की खरीद में हुए कथ‍ित घोटाले का मामला टूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस ने इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जवाब मांगा है। सोमवार को इस मामले को लेकर महिला कांग्रेस कार्यकत्रियों ने राजधानी स्थित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास पर विरोध प्रदर्शन कर गिरफ्तारी दी। इस दौरान महिला कांग्रेस कार्यकत्रियां ‘चंदा चोर-गद्दी छोड़’ नारे लगा रही थी। विरोध प्रदर्शन के दौरान पुरुष पुलिसकर्मियों ने कांग्रेस कार्यकत्रियों से धक्का-मुक्की भी की।

Mahila Congress worker

श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से संबंधित जमीन के सौदे हुए कथित भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस केंद्र व यूपी सरकार पर निशाना साध रही है। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से को इस ‘घोटाले पर जवाब देने की मांग की है।

सुरजेवाला ने कहा कि इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में होनी चाहिए। रणदीप सुरजेवाला ने सुप्रीम कोर्ट से भी मंदिर निर्माण के चंदे के रूप में प्राप्त राशि और खर्च का ऑडिट करवाने और चंदे से खरीदी गई सारी जमीन की कीमत को लेकर जांच कराने का आग्रह किया है।

वही लखनऊ में महिला कांग्रेस ने सीएम योगी के आवास पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान महिला कांग्रेस कार्यकत्रियां ‘चंदा चोर-गद्दी छोड़’ नारे लगा रही थी। पुलिस ने रस्सा लगाकर प्रदर्शनकारी महिलाओं को काबू में करने की कोशिश की। कुछ देर बाद पुलिसआंदोलनकारी कार्यकर्ताओं को गिरफ़्तार करके ले गयी। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रदर्शन के दौरान पुरुष पुलिसकर्मियों ने महिलाओं के साथ मारपीट भी की है।

गौरतलब है कि रविवार को आप सांसद संजय सिंह और सपा नेता पवन पांडे ने राम जन्मभूमि ट्रस्ट पर राम मंदिर के लिए जमीन की खरीद में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। आप सांसद संजय सिंह ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाया था कि ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने दो करोड़ रुपये में बिकी जमीन को कुछ वक्त बाद 18.5 करोड़ रुपये में खरीद कर बड़ा घपला किया है। हालांकि चंपत राय ने इन आरोपों को निराधार बताते हुए कहा था कि हम पर महात्मा गांधी की हत्या का भी आरोप लगा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *