बाहुबली अंसारी को बड़ा झटका, पत्नी और बेटों का होटल ‘गजल’ ध्वस्त

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में नियंत्रक प्राधिकारी बोर्ड विनियमित क्षेत्र गाजीपुर ने शनिवार को 'गजल' होटल के मालिक अब्बास अंसारी व उमर अंसारी की अपील को खारिज कर दी थी।

गाजीपुर, 01 नवम्बर। विधायक मुख्तार अंसारी के बहुचर्चित ‘गजल’ होटल को रविवार सुबह जिला प्रशासन द्वारा ध्वस्त कर दिया गया है। यह होटल मुख़्तार अंसारी की पत्नी और दोनों बेटों के नाम पर पंजीकृत है।

hotel gazal

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में नियंत्रक प्राधिकारी बोर्ड विनियमित क्षेत्र गाजीपुर ने शनिवार को ‘गजल’ होटल के मालिक अब्बास अंसारी व उमर अंसारी की अपील को खारिज कर दी थी। ये दोनों मऊ से पाचवीं बार विधायक चुने गए मुख़्तार अंसारी के बेटे हैं। अपील ख़ारिज होने के साथ ही बुलडोजर चलना तय हो गया था, जो रविवार की सुबह से ही ध्वस्तीकरण का कार्य प्रारंभ हो गया।

उल्लेखनीय है कि ‘गजल’ होटल विधायक मुख्तार अंसारी का महज एक व्यवसायिक प्रतिष्ठान नहीं बल्कि सामाजिक राजनीतिक गतिविधियों का जिला मुख्यालय पर एक मजबूत केंद्र के रूप में स्थित था। हालांकि अंसारी परिवार में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के साथ ही उनके बड़े भाई सांसद अफजाल अंसारी व एक अन्य बड़े भाई पूर्व विधायक शिवगतुल्लाह अंसारी सक्रिय राजनीति में भागीदारी करते रहते हैं। जिन्होंने पूर्व में कौमी एकता दल नाम से पार्टी भी बनाई थी। इनकी राजनीतिक गतिविधियों का मुख्य केंद्र तो इनका पैतृक आवास यूसुफपुर मोहम्मदाबाद स्थित “फाटक” ही माना जाता रहा है। लेकिन वर्ष 2004 में निर्माण के बाद से विधायक मुख्तार अंसारी के बड़े भाई सांसद अफजाल अंसारी के सभी चुनावों का संचालन इसी होटल को चुनाव कार्यालय बनाकर किया जाता रहा।

ज्ञात हो कि सदर एसडीएम की अदालत ने आठ अक्टूबर को एक सप्ताह का समय देते हुए इसे ध्वस्त करने का आदेश पारित किया था। इसके बाद अंसारी परिवार हाइकोर्ट चला गया। यहां उन्हें जिलाधिकारी के यहां अपील दाखिल करने का आदेश प्राप्त हुआ था। दो बार हुई सुनवाई के बाद अपील ख़ारिज हो गई। इसके एक भाग में एचडीएफसी बैंक चल रहा था, जिसे दूसरी जगह शिफ्ट किया गया। प्रथम तल पूरी तरह ध्वस्त होगा, जबकि निचले तल के कुछ हिस्से बचे रहेंगे।

भाजपा विधायक ने प्रियंका गांधी को लिखा पत्र

दिवंगत भाजपा विधायक स्व. कृष्णानंद राय की पत्नी भाजपा विधायक अलका राय ने प्रियंका गांधी को पत्र लिखकर कहा कि वो उनके पति के हत्यारे मुख़्तार अंसारी को बचाना बंद करें। वह 14 साल से पति की हत्या का इंसाफ पाने के लिए लड़ रही हैं, लेकिन कांग्रेस मुख़्तार अंसारी को खुला संरक्षण दे रही है।

मुख्तार की पत्नी-बेटों के खिलाफ 12 मुकदमें

मुख़्तार अंसारी की पत्नी, बेटों पर इस मामले में 12 एफआईआर दर्ज है। बोर्ड ने 15 पेज के फैसले में एसडीएम सदर, विनियमित क्षेत्र अधिकारी के ध्वस्तीकरण के फैसले को सही मानते हुए अग्रिम कार्रवाई का आदेश प्रदान कर दिया था। देर रात ही इस आदेश की कॉपी होटल की दीवालों पर चस्पा कर दिया गया था। प्रशासन ने पहले ही दुकानदारों को खाली करने को कह दिया था।

अवैध पाया गया होटल

प्रशासन ने पाया कि ये होटल पूरी तरह अवैध है। राजस्व जांच में भी दस्तावेजों के हेरफेर और अनाधिकृत रजिस्ट्री की बात पता चली। यानी, इस होटल के निर्माण के दौरान एक भी नियम-कायदे का पालन नहीं किया गया। ‘गजल’ होटल के प्रथम तल समेत, सीढ़ी, उत्तर दिशा की दुकानें और बैंक का परिसर सहित कई हिस्सों को ध्वस्त कर दिया गया। होटल में कई अनियमितताएं मिली थीं और इसका नक्शा भी गड़बड़ पाया गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *