इस राज्य में भाजपा को लगने वाला है तगड़ा झटका, संकेत भी मिलने शुरू हो गए

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद भारतीय जनता पार्टी की पहली सांगठनिक बैठक मंगलवार को कोलकाता के हेस्टिंग्स दफ्तर में हो रही है।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद भारतीय जनता पार्टी की पहली सांगठनिक बैठक मंगलवार को कोलकाता के हेस्टिंग्स दफ्तर में हो रही है। लेकिन पार्टी में अहम भूमिका निभाने वाले राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पूर्व सहयोगी मुकुल रॉय इस बैठक में शामिल नहीं हैं। मुकुल के करीबी माने जाने वाले पूर्व विधायक सब्यसाची दत्त भी इस बैठक से नदारद हैं जो पूर्व में तृणमूल से विधायक रहे हैं।
Modi and Shah

कयास लगाए जा रहे हैं

विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की प्रचंड जीत के बाद भाजपा के एक के बाद एक नेताओं के तृणमूल कांग्रेस में वापसी के बीच इन दोनों शीर्ष नेताओं के संगठन की बैठक में शामिल नहीं होने को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं। खासकर तब जब मुकुल की नजदीकियां एक बार फिर तृणमूल से बढ़ गई हैं। मुकुल के बेटे शुभ्रांसु राय ने चुनाव बाद भाजपा की आलोचना की है और तृणमूल की प्रशंसा करते रहे हैं। मुकुल भी भाजपा के पक्ष में सार्वजनिक मंचों से फिलहाल दूर ही रह रहे हैं। इसलिए आज चुनाव बाद पार्टी की पहली सांगठनिक बैठक में शामिल नहीं होने के बाद भाजपा से उनकी बढ़ती दूरियों के बारे में अटकलें लगाई जाने लगी हैं।
उल्लेखनीय है कि मुकुल रॉय की पत्नी की सेहत खराब होने के बाद खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने फोन कर हालचाल पूछा था।वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी उनसे मिलने के लिए अस्पताल जा पहुंचे थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *