भाजपा नेत्री की मौत: श्वेता की बेटियों ने कहा ‘दादी, बाबा, बड़े पापा सबको जेल भेजो, इन सबने ही मेरी मां को मारा है

मोदी जी -योगी जी प्लीज, मेरी मम्मी को न्याय दिलाइए। कल मैं स्कूल जा रही थी तो पापा ने मुझसे कहा था कि आप जब स्कूल से वापस लौटोगे तो...

बांदा। मोदी जी -योगी जी प्लीज, मेरी मम्मी को न्याय दिलाइए। कल मैं स्कूल जा रही थी तो पापा ने मुझसे कहा था कि आप जब स्कूल से वापस लौटोगे तो तुम्हारी मां मर चुकी होगी। लखनऊ में भी पापा कह रहे थे कि बांदा जाकर तुम्हारी मां को मार डालूंगा ’। ये गुहार है भाजपा नेत्री श्वेता कि बेटियों के। इन बेटियों ने मां मौत को लेकर पापा के खिलाफ बगावत शुरू कर दी है। मीडिया के सामने हाथ जोड़कर रोटी बिलखती श्वेता की बेटियों ने कहा- ‘दादी, बाबा, बड़े पापा सबको जेल भिजवाओ। इन सबने ही मेरी मां को मार डाला।’

death of BJP leader

बच्चियों ने कहा कि ये सब मम्मी ताने देते थे। गालियां देते थे। बुरा-बुरा बोलते थे। बाबा मेरी मां को गाली देते थे। हालांकि बड़े पापा धनंजय अच्छे हैं। वह कुछ भी नहीं कहते थे। बेटियों का आरोप है कि बाबा पापा से कहते थे कि हम लोगों को प्राइमरी स्कूल में पढ़ाओ। श्वेता को तलाक दे दो। दूसरी शादी कर लो। लड़का चाहिए। उन्होंने मां को मार डाला-मार डाला।

बेटियां मीडिया के सामने गुहार लगा रही थी प्लीज मेरी मां को इंसाफ दिलाओ’। फफक-फफक कर रो रहीं बेटियों की यह फरियाद सुनकर वहां मौजूद हार किसी की आँखों में आंसू आ गए। बेटी गौरी, मिट्टो और अविष्का को उनकी मौसी करिश्मा, मामा ओमकार सिंह और शुभम सिंह ने सीने से लगाकर संभाला और सांत्वना दी।

अभी नहीं होगी गिरफ्तारी

भारी दबाव और आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने श्वेता गौर के भाई की तहरीर पर रिटायर्ड डीआईजी ससुर समेत पति, सास और जेठ के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है लेकिन गिरफ्तारी को लेकर अभी कोई कार्रवाई नहीं की गई। इस मामले में पुलिस उपाधीक्षक सदर राकेश कुमार सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हैंगिंग यानी आत्महत्या की बात सामने आई है। कोई बाहरी चोट भी नहीं मिली है।

ऐसे में पोस्टमार्टम रिपोर्ट और विवेचना में पर्याप्त साक्ष्य मिलने पर ही गिरफ्तारी या फिर आगे की कार्रवाई होगी। पुलिस उपाधीक्षक सदर ने कहा कि भाई की तहरीर पर मामला पंजीकृत कर लिया गया। विवेचना की जा रही है। बेटियों द्वारा पिता और श्वेता के ससुर, सास आदि पर लगाए गए आरोपों को लेकर क्षेत्राधिकारी का कहना है कि विवेचना में ऐसा कोई आरोप सामने नहीं आया है।