Indigestion in Hindi: अगर आप भी ऐसी आदतों के आदी हैं तो छोड़ दीजिए बन सकती हैं अपच का कारण

शादी सीजन है मतलब तैलीय खाना और फिर सुबह अपच की दिक्कत। अपच जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है – अ+पच मतलब पचना। हमारा पाचन तंत्र एक निश्चित सीमा तक ही खाना को पचा पाता है। जब हम आवश्यकता से ही खाना खा लेते हैं तो हमारा पाचन तंत्र उस अतिरिक्त खाने को नहीं पचा पाता है और यही अपचित भोजन पेट फुलाता है जिससे खट्टी डकारें आती हैं। इसके अलावा और भी अपच का कारण हैं, जिनके बारे के हम इस आर्टिकल में चर्चा करेंगे। अपच का कारण जानने के अलावा हम यह भी जानने का प्रयास करेंगे कि आखिर अपच के लक्षण और उपचार कौन कौन से होते हैं।

अपच का कारण

Constipation in Hindi: अगर आप भी ऐसी आदतों के आदी हैं तो छोड़ दीजिए बन सकती हैं कब्ज का कारण

अपच क्या है

अपच एक पाचन तंत्र की ऐसे बीमारी है जिसमें आपके पेट (पेट) में दर्द या जलन महसूस होती है।खट्टी डकारे भी आती हैं, सामान्य रूप से अपच कभी कभी या अक्सर हो सकता है।अपच एक बहुत ही सामान्य स्थिति है।  अमेरिका में लगभग 25% लोग हर साल अपच का अनुभव करते हैं।

अपच Meaning in English

अपच को English में  “Dyspepsia” कहते हैं।

अपच का कारण क्या है

बहुत सारी चीज़ें हैं जो अपच का कारण बन सकती हैं। चाहें शारीरिक मेडिकल कंडिशंस हो, कोई दवा हो या जीवनशैली हो अपच का कारण इनमे से  कोई भी हो सकता है।

हम अपच का कारण का अध्ययन 3 तथ्यों के आधार पर करेंगे।

जीवनशैली (Lifestyle)

जब शरीर सामान्य रूप से भोजन को पचा नहीं पाता है तो अपच का अनुभव होता है।  यह बहुत अधिक खाने या बहुत तेजी से खाने का परिणाम हो सकता है।मसालेदार, चिकना और वसायुक्त भोजन भी अपच के जोखिम को बढ़ाते हैं।

खाने के तुरंत बाद लेटने से खाना पचने में मुश्किल हो सकती है। इससे आपके पेट में परेशानी होने का खतरा बढ़ जाता है।अपच का कारण निम्नलिखित में से कुछ भी हो सकता है।

  • अधिक मात्रा में शराब (Alcohol) पीना
  • धूम्रपान (Smoking) करना
  • तनाव होना

दवा (Medication)

अपच कुछ विशेष प्रकार की दवाएं लेने का एक साइड इफेक्ट (Side effect) हो सकता है।नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी दवाएं (Non Steroidal anti-inflammatory drugs), जैसे एस्पिरिन (Aspirin), इबुप्रोफेन (Ibuprofen) और नेप्रोक्सन (Naproxen), दवाओं का एक वर्ग है जो अपच का कारण बन सकती है।

एंटीबायोटिक्स (Antibiotics), दवाएं जो बैक्टीरिया के संक्रमण का इलाज या रोकथाम करती हैं, पाचन तंत्र में कुछ दिक्कते पैदा कर सकती हैं और साइड इफेक्ट के रूप में अपच का कारण बन सकती हैं। ऐसी दवाएं जो थायराइड (Thyroid) के मरीजों को दी जाती है, वे दवाएं भी अपच का कारण बन सकती है।

कुछ हार्मोनल दवाएं भी अपच का कारण बन सकती है, जैसे: जिन महिलाओं को बच्चा नहीं चाहिए होता है उनको एस्ट्रोजन (Estrogen) या प्रोजेस्ट्रोन (Progesterone) की दवाएं गर्भनिरोधक गोलियों के रूप में दी जाती है, ये दवाएं भी अपच का कारण बन सकती है।

कुछ विशेष मेडिकल कंडिशंस

कई मेडिकल कंडिशंस भी अपच का कारण बन सकती हैं।

इसमे शामिल है:

  • गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (Gastroesophageal reflux disease or GRD )
  • अमाशय का कैंसर (Stomach cancer)
  • अग्नाशय या पित्त नली की असामान्यताएं
  • पेप्टिक अल्सर (Peptic ulcer)
  • लैक्टोज (Lactose) और ग्लूटेन (Gluten) के प्रति संवेदनशीलता
  • इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (Irritable bowel syndrome or IBS)
  • Pancreatitis

Note: कभीकभी आप बिना किसी स्पष्ट कारण के अपच का अनुभव कर सकते हैं।  इसको मेडिकल की भाषा में फक्शनल डिस्पेप्सिया (Functional Dyspepsia) कहते है।

अपच के लक्षण

अपच निम्न परेशानियों का कारण बन सकती है।

  • पेट में दर्द होना
  • पेट में मरोड़ होना
  • उल्टी जैसे अनुभव करना
  • पेट में जलन होना (Heartburn)
  • उल्टी होना

कुछ और सामान्य लक्षण हैं जो अपच के रोगी को महसूस हो सकते हैं, जैसे:

  • थोड़ा ही भोजन करने के बाद पेट भरा हुआ महसूस होना
  • पेट और ग्रासनली (oesophagus) में जलन होना
  • पेट में बहुत अधिक मात्रा में गैस बनना

अपच के गंभीर लक्षण

अपच कुछ गंभीर परेशानियों का भी कारण बन सकता है। जो निम्न है;

  • उल्टी (खून या कॉफी के रंग जैसे दिखना)
  • बिना किसी खास वजह के वजन घटना
  • मल का रंग काला होना
  • भोजन निगलने में परेशानी होना

अपच के घरेलू उपाय

बहुत से लोगों को कभी न कभी अपच की समस्या होती ही है।  अपच को ठीक करने के लिए वे ओवर-द-काउंटर एंटासिड (Over the counter Antacid) का प्रयोग करने के बजाय अपने रसोई घर की सामग्री और जड़ी-बूटियों को आजमा सकते हैं, निश्चित ही ये घरेलू उपाय लाभकारी होगे अगर लाभकारी न हुए तो किसी भी प्रकार का साइड इफेक्ट्स का कारण नहीं बनेंगे। मैं कुछ निम्न घरेलू उपाय बताने जा रहा जो निश्चित रूप से अपच में लाभकारी सिद्ध होगे।

एप्पल साइडर विनेगर (Apple cider vinegar)

ऐसे दावे किए गए हैं कि एप्पल साइडर विनेगर अपच को कम करने में भी मदद कर सकता है।अपच तब होता है जब आपके पेट में अम्ल का उत्पादन कम हो जाये, एप्पल साइडर विनेगर पेट के अम्ल को प्रभावी तरीके से बढ़ा सकता है इसलिए अपने शरीर में पेट के एसिड के उत्पादन को बढ़ाने के लिए सेब का सिरका पिएं।

अपच के लिए एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग कैसे करें

एक कप पानी में एक से दो चम्मच कच्चा और बिना पाश्चुरीकृत सेब का सिरका मिलाएं और यह मिश्रण को पी लें।

अदरक

जैसे कि कम मात्रा में अम्ल का उत्पादन अपच का कारण बन सकता है वैसे ही अधिक मात्रा में अम्ल का उत्पादन भी अपच का कारण बन सकता है।अदरक पेट के अम्ल के उत्पादन को कम करता है।

अपच के लिए अदरक का प्रयोग कैसे करें

अपच से छुटकारा पाने के लिए आवश्यकतानुसार एक कप अदरक की चाय पिएं।

Note: प्रतिदिन 3 से 4 ग्राम से ज्यादा अदरक का सेवन करे क्योंकि इससे अधिक मात्रा में अदरक के सेवन से गैस, गले और पेट के जलन की दिक्कत हो सकती हैं।

निम्बू पानी (Lemon water)

नींबू पानी प्रकृति से क्षारीय होता है जिससे ये पेट के अधिक अम्ल को न्यूट्रलाइज (Neutralise) करता है।

अपच के लिए निम्बू पानी का प्रयोग कैसे करें

गर्म पानी में एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं और खाने से कुछ मिनट पहले पिएं।

Oily Skin को इस जादुई चीज़ से करें ठीक, इन गलत तरीकों से करें खुद का बचाव, नहीं तो ख़राब हो जाएगा चेहरा