भाजपा के ‘वोट कटवा’ बयान पर बिफरे चिराग पासवान, कहा-2014 से क्यों रखे हैं साथ?

चिराग ने एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि अगर हम वोट कटवा हैं तो भाजपा ने 2014 से क्यों साथ रखा है? चिराग ने कहा, भाजपा ये बयान नीतीश कुमार के दबाव में दे रही है। भाजपा को अपने विवेक का इस्तेमाल करना चाहिए। चिराग ने साफ तौर पर कहा कि अगर नीतीश कुमार सीएम बने तो NDA में नहीं रहूंगा। 

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले LJP अध्यक्ष चिराग पासवान और भाजपा के बीच राजनीति तेज हो गई है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के वोट कटवा वाले बयान पर चिराग ने निशाना साधा है। चिराग ने एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि अगर हम वोट कटवा हैं तो भाजपा ने 2014 से क्यों साथ रखा है? चिराग ने कहा, भाजपा ये बयान नीतीश कुमार के दबाव में दे रही है। भाजपा को अपने विवेक का इस्तेमाल करना चाहिए। चिराग ने साफ तौर पर कहा कि अगर नीतीश कुमार सीएम बने तो NDA में नहीं रहूंगा।

चिराग ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मेरे पिता (रामविलास पासवान) को बहुत सम्मान दिया। मैं पीएम के साथ हूं और उनका सम्मान करता हूं। चिराग ने कहा कि 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला मेरा है। हम जेडीयू के खिलाफ उम्मीदवार उतारेंगे। बिहार में भाजपा और एलजेपी की सरकार बनेगी।

दरअसल, शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि LJP बिहार के चुनावों में कोई प्रभाव नहीं डाल पाएगी। LJP बिहार के चुनावों में सिर्फ एक वोट कटवा पार्टी बनकर रह जाएगी। प्रकाश जावड़ेकर ने स्पष्ट किया कि बिहार में केवल चार पार्टियां (बीजेपी, JDU, हम और वीआईपी) ही साथ मिलकर चुनाव लड़ रही हैं। जावड़ेकर ने दावा किया कि  NDA को बिहार के चुनावों में तीन-चौथाई बहुमत मिलेगा।

संबित पात्रा ने साधा था निशाना

शुक्रवार को बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी एलजेपी पर खुलकर निशाना साधा। संबित पात्रा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि बीजेपी की कोई बी, सी या डी टीम नहीं है। एलजेपी बिहार की जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। हमारी केवल एक टीम है जिमसें बीजेपी, जेडीयू, हम और वीआईपी शामिल है। एलजेपी अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रही है।

पापा ने किया था 143 सीटों पर लड़ने का फैसला

इससे पहले चिराग पासवान ने कहा था कि पापा (रामविलास पासवान)  ने 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया था। एक बेटे के तौर पर मैं बुरी तरह से आहत था, जब मेरे पिता का नीतीश कुमार द्वारा बार-बार अपमान किया गया था। 10 नवंबर को नीतीश कुमार सीएम नहीं बनेंगे। उन्होंने कहा था कि मुझे चुनावों में प्रधानमंत्री की तस्वीरों का इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं है। पीएम मेरे दिल में हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *