img

कुशीनगर में बृहस्पतिवार सुबह रेल दुर्घटना में स्कूली बच्चों की मृत्यु पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अपनाते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है। मुख्यमंत्री ने शिथिल पर्यवेक्षण के लिए कुशीनगर के बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमंत राव को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश दिए हैं।

 

इस दुर्घटना के लिए पूर्ण रूप से उत्तरदायी दुदही के खंड शिक्षा अधिकारी शेष बहादुर को भी निलंबित करने को कहा है। प्रवर्तन कार्य में शिथिलता बरतने के लिए कुशीनगर के एआरटीओ (प्रवर्तन) राजकिशोर त्रिवेदी व परिवहन विभाग के यात्री कर अधिकारी रणवीर सिंह चौहान को दुर्घटना के लिए उत्तरदायी पाए जाने पर निलंबित करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने बिना अनुमति/पंजीकरण के विद्यालय का संचालन करने के लिए डिवाइन पब्लिक स्कूल के प्रबंधक व प्रधानाचार्य करीम जहान खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराते हुए विधिक धाराओं में कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए हैं।

उन्होंने सेठ बंशीधर विद्यालय की जांच कराने के भी निर्देश दिए हैं, जहां से डिवाइन पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों के लिए टीसी की व्यवस्था की जाती थी।

मृत बच्चों के परिवारीजनों को दो-दो लाख का मुआवजा

राज्यपाल राम नाईक व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व विभिन्न दलों के नेताओं ने बृहस्पतिवार को कुशीनगर में रेल दुर्घटना में बच्च्चों की मौत पर गहरा दुख जताया है। मुख्यमंत्री ने गोरखपुर के मंडलायुक्त को दुर्घटना की जांच करने के  आदेश दिए हैं। इसके साथ ही, उन्होंने हादसे में मरने वाले बच्चों के परिवारीजनों को दो-दो लाख रुपये व घायलों को पचास-पचास हजार की आर्थिक सहायता देने का एलान भी किया है।

राज्यपाल ने हादसे को दुखद बताते हुए मृतकों के परिवारीजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की व घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। जबकि, मुख्यमंत्री ने मृत छात्रों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना जताते हुए हादसे को अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने दुर्घटना से प्रभावित लोगों के समुचित इलाज की व्यवस्था करने व हर संभव मदद देने के निर्देश दिए।

--Advertisement--