5AC423FB902F99F7B04A6C0E44CE75FA

कोका कोला बिहार में करने जा रही 11 हजार करोड़ रुपये का निवेश, इन किसानों को होगा फायदा

Loading...

बिहार के किसानो के दिन बदलने जा रहे है, हालांकि इससे अभी तक किसका फायदा होगा स्पष्ट नहीं हो पाया है. आपको बता दें कि बिहार में कोका कोला (इंडिया) कंपनी 11 हजार करोड़ रुपये का निवेश करेगी. इससे राज्य के लीची किसानों को काफी फायदा हो सकता है. कोको कोला के इस निवेश की खबर से किसानो में उत्साह है.

आपको बता दें कि इसके लिए ‘उन्नत लीची परियोजना’ की शुरुआत कोका कोला (इंडिया) कंपनी, राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केन्द्र और देहात (बिहार की ही एक संस्था) ने मिलकर शुरू किया है.बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने न्यूज एजेंसी आईएनएस को बताया, ‘इस योजना के तहत लगभग 80 हजार लीची उत्पादक किसानों को प्रशिक्षण दिया जाएगा तथा 3000 एकड़ में पुराने लीची बागों का जीर्णोद्धार किया जाएगा.

वहीँ उन्होंने आगे बताया कि इसके साथ ही नई तकनीक से लीची के नए बाग लगाने का लक्ष्य रखा गया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत कंपनी मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर और वैशाली जिलों में लीची के उत्पादन बढ़ाने का काम करेगी. इसके साथ ही लीची किसानों और इस व्यवसाय से जुड़े लोगों की बेहतरी के लिए काम किया जाएगा.

Loading...

बता दें कि कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने बताया, ‘मुजफ्फरपुर में लीची का एक अत्याधुनिक बाग लगाया जाएगा, जहां किसानों को आधुनिक प्रशिक्षण दिया जाएगा. इस परियोजना में कोका कोला इंडिया 11000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. वहीं प्रेम कुमार ने दावा किया कि हाल ही में सरकार के प्रयास से शाही लीची, जर्दालु आम, मगही पान, कतरनी धान को जीआई टैग मिला है, जिससे इन फसल उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय ख्याति मिली है.

वहीं उन्होंने कहा, ‘हमारा प्रयास इन फसल उत्पादों को राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अधिक से अधिक मूल्य दिलाने का है. इसी कड़ी में बहुराष्ट्रीय कंपनी कोका कोला, राज्य के शाही लीची एवं चाइना लीची के क्षेत्र में सहयोग करने जा रही है.’

Corona Virus से जान बचाने के लिए अब इस जानवर को खा रहे चाइना के लोग, कहीं खड़ी ना हो जाए नई मुसीबत

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com