Communal Clash: इस राज्य में हुआ बवाल, नमाज के बाद पथराव, हालात को कंट्रोल करने के लिए छोड़े गए आंसू गैस के गोले, लाठीचार्ज

राजस्थान में दो समुदायों के बीच शुरू हुआ बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। आज ईद की नमाज के बाद भी जोधपुर के जालोरी गेट इलाके...

राजस्थान। राजस्थान में दो समुदायों के बीच शुरू हुआ बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। आज ईद की नमाज के बाद भी जोधपुर के जालोरी गेट इलाके में एक फिर से दो पक्षों में तनाव बढ़ गया है। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव भी किया है। ऐसे में भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को उन पर लाठियां भांजनी पड़ी और आंसू गैस के गोले छोड़ने पडे़। उपद्रवी भीड़ स्वतंत्रता सेनानी की प्रतिमा पर लगे झंडे को हटाने की कोशिश कर रही थी जिस पर पुलिस ने यह एक्शन लिया।

JODHPUR VILENCE

गौरतलब है कि जोधपुर में ईद से पहले की रात से ही सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया है। यहां दो समुदायों के लोगों के बीच झंडे को लेकर बवाल शुरू हुआ और फिर पत्थरबाजी होने लगी। इस हिंसा में थानेदार सहित तीन पुलिसकर्मी और 4 पत्रकार जख्मी हो गए। हालात इतने तनावपूर्ण हो गए कि यहां इंटरनेट सेवाएं भी बंद करनी पड़ी। बताया जा रहा है कि यहां रात करीब एक बजे से सभी इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई है।

गौरतलब है के इससे पहले भी जोधपुर के जालोरी गेट के पास काफी देर तक पत्थराबाजी हुई। उपद्रवियों ने जालोरी गेट सर्कल पर परशुराम जयंती के मौके पर लगे भगवा झंडे को हटाकर उस पर ईद का झंडा लगाने की कोशिश की थी जिस पर दो गुटों में झगड़ा हो गया।

हालात इतने बिगड़ गए थे कि पत्थरबाजी होने लगी। हंगामा करने वालों पर नियंत्रण के लिए पुलिस को बल प्रयोग भी करना पड़ा। इधर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हिंसा की निंदा करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। उन्होंने कहा कि जालौरी गेट, जोधपुर पर दो गुटों में झड़प से तनाव पैदा होना दुर्भाग्यपूर्ण है।