कांग्रेस ने योगी सरकार को घेरा, कहा- स्मार्ट बिजली के नाम पर जनता का शोषण बंद करे

वाराणसी, 06 सितम्बर । कांग्रेस के जिला एवं महानगर के पदाधिकारियों ने रविवार को इंगलिशिया लाइन स्थित पंडित कमलापति त्रिपाठी फाउंडेशन कार्यालय में स्मार्ट बिजली बिल के नाम पर उपभोक्ताओं के शोषण को लेकर बैठक की। बैठक में पार्टी के पूर्व उपाध्यक्ष विजय शंकर पाण्डेय ने कहा कि स्मार्ट मीटर के नाम पर सौ से डेढ़ सौ फीसदी ज्यादा आ रहे बिजली के बिल ने सबको परेशान कर दिया है।

हर घर- व्यापारी परेशान है। बिल हाथ में पकड़ाते ही तत्काल जमा करने का दबाव ऐसे बनाया जा रहा है जैसे प्राइवेट बैंको के लोन रिकवरी एजेंट बनाते हैं। उन्होंने कहा कि अनियोजित लॉकडाउन की मार से तबाह जनता पर यह मनमाने बिजली के बिल किसी तुषारापात से कम नहीं है।

एक तरफ दिन प्रतिदिन भयावह होते जा रहे कोरोना का संकट तो वहीं योगीराज में मनमाना आता बिजली का बिल जनता पर किसी सर्जिकल स्ट्राइक से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि एक के बाद एक दनादन होती मंदी, नोटबंदी, जीएसटी और अब लॉकडाउन के प्रहार से जनता की कमर झुक गई है। गरीब वर्ग से लेकर मध्यमवर्ग सभी त्राहि त्राहि कर रहे हैं।

अन्य नेताओं ने सरकार और पावर कारपोरेशन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जनता को अधिकाधिक राहत देनी चाहिए। दो सौ यूनिट फ्री बिजली के साथ-साथ विद्युत दरों को भी कम किये जाने की फौरी जरूरत है। केंद्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की गिरी कीमतों का कोई लाभ जनता तक पंहुचने नहीं दिया।

पावर कारपोरेशन को चेताते हुए कांग्रेस नेताओं ने योगी सरकार से दो टूक मांग की, कहा- स्मार्ट मीटर के नाम पर हो रहे शोषण पर सरकार तत्काल लगाम लगाये। उसके नाम पर उत्पीड़न नही रूका तो कांग्रेस जन सड़कों पर उतरने के लिए बाध्य होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *