भारतीयों को बूस्टर डोज लगवाने की जरूरत पर सरकार ने दिया ये जवाब! पढ़िए पूरी डिटेल्स

कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी की संभावित तीसरी लहर की चर्चाओं के बीच केंद्र सरकार ने आगामी त्योहारों के मद्देनजर लोगों से खास अपील की है. जिससे कोरोना को बढ़ने से रोका जा सके.

कोरोना का कहर फिलहाल कम होते नज़र आ रहा है, लेकिन इसके बढ़ने की आशंका कम नहीं हुई है. आपको बता दें कि कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी की संभावित तीसरी लहर की चर्चाओं के बीच केंद्र सरकार ने आगामी त्योहारों के मद्देनजर लोगों से खास अपील की है. जिससे कोरोना को बढ़ने से रोका जा सके.

corona positive

इसके साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि केरल में कोरोना के केस कम होने लगे हैं. लेकिन यह अब भी देश में कुल मामलों की एक बड़ी संख्या में योगदान दे रहा है. वहीँ स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, ‘केरल में सबसे अधिक 1,44,000 एक्टिव केस हैं जो देश के कुल सक्रिय मामलों का 52% है.

वहीं महाराष्ट्र में कोरोना के 40,000 एक्टिव केस हैं. तमिलनाडु में 17,000, मिजोरम में 16,800, कर्नाटक में 12,000 और आंध्र प्रदेश में 11,000 से अधिक एक्टिव मामले हैं. देश भर में सक्रिय मामले कम हो रहे हैं, रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है. देश में ठीक होने की दर लगभग 98% है. जबकि देश में 18 ऐसे जिले हैं, जहां पर कोरोना वायरस की हर हफ्ते 5 से दस फीसदी तक पॉजिटिविटी रेट सामने आ रही है.’
.

‘बूस्टर डोज की जरूरत नहीं’

वहीं इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के डायरेक्टर जनरल बलराम भार्गव ने कहा, ‘त्योहार आने वाले हैं और लोग अपने-अपने घर जाने के लिए ट्रैवल करने की योजना बना रहे हैं. अगर आप सार्वजनिक व्हीकल से ट्रैवल करने की सोच रहे हैं तो इससे आपके संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाएगा. ऐसे में जरूरी होने पर ही प्राइवेट व्हीकल से अपने ट्रैवल करें. त्योहारों को सादगी से मनाएं. भार्गव ने बूस्टर डोज को लेकर उठ रहे सवालों के जवाब देते हुए कहा, ‘बूस्टर डोज की अभी महत्‍ता नहीं है. अभी दो डोज पूरा करना ज्यादा जरूरी है. कुछ राज्यों में हमने स्टडी की है, जिससे पता लगा है कि एंटीबाडी ज्यादा समय तक रुक रही है.’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *