बच्चों को शिकार बना रहा कोरोना, इन आंकड़ों को देखकर आप भी रह जाएंगे दंग

चिकित्सा वैज्ञानिकों ने बच्चों के टीकाकरण की रणनीति जल्द से जल्द शुरू करने की चेतावनी दी है

कोरोना महामारी के चलते जिस बात की आशंका जताई जा रही थी, वही खतरा अब स्पष्ट नजर आने लगा है। मासूम बच्चे भी कोरोना वायरस का शिकार हो रहे हैं। ताजी रिसर्च के अनुसार, जिन मुल्कों में वयस्कों को तेजी से टीका लगाया जा रहा है, वहां बच्चों में कोरोना का संक्रमण बढ़ने लगा है। यही वजह है कि चिकित्सा वैज्ञानिकों ने बच्चों के टीकाकरण की रणनीति जल्द से जल्द शुरू करने की चेतावनी दी है।

corona child

रिपोर्ट में ये हुआ खुलासा

जानी मानी पत्रिका नेचर में प्रकाशित एक शोध रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि जिन देशों में अधिकांश आबादी पर वयस्कों का टीकाकरण किया गया है, वहां बच्चे कोरोना के निशाने पर आ गए हैं।

50 % से ज्यादा मामले 19 साल से कम उम्र के हैं

इज़राइल में, 85 % वयस्कों को टीका लगाया गया है। हाल ही में नए संक्रमणों में वृद्धि हुई है। इनमें से 50 % से ज्यादा मामले 19 साल से कम उम्र के लोगों के हैं।

विशेषज्ञों का मानना ​​है कि दोनों ही टीके वयस्कों को दिए जाने के कारण सुरक्षा कवच बन गए हैं, ऐसे में यह वायरस बच्चों और किशोरों को प्रभावित कर रहा है। नेचर की रिपोर्ट के मुताबिक इस तरह का ट्रेंड अमेरिका और ब्रिटेन में भी दिखने लगा है।

9 साल से कम उम्र वालों में 11.8% मामले cases

इजरायल की स्वास्थ्य एजेंसी के 5 जुलाई तक के आंकड़ों के मुताबिक, 0-9 साल के बच्चों में संक्रमण के 11.8 % मामले पाए गए हैं, जबकि 39.6 % मामले 10-19 साल की उम्र में पाए गए हैं। इसी तरह 19 साल से कम उम्र वालों में 51.4 % मामले पाए गए हैं।

इन देशों ने शुरू किया बच्चों का टीकाकरण

कोविड के बढ़ते खतरे के बीच इजराइल ने 15 साल से अधिक उम्र के बच्चों का टीकाकरण शुरू कर दिया है। वहीं अमेरिका में भी बच्चों का टीकाकरण किया जा रहा है। हालांकि अभी तक ज्यादातर देशों में बच्चों के टीकाकरण की कोई योजना नहीं बनी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *