कोरोना वायरस: संक्रमण के डर से ना करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ सकता है महंगा

चीन में कोरोना वायरस ने जमकर हंगामा मचा रखा है, ऐसे में भारत में मामला सामने आने के बाद से लोगों में दहशत समा गई है. आपको बता दें कि कोरोना वायरस के दो नए मामले सामने आने के बाद दिल्ली-एनसीआर के लोगों में खौफ बढ़ता ही जा रहा है. भयंकर महामारी से खौफजदा लोग इंटरनेट पर इस बीमारी का इलाज खोज रहे हैं. बता दें कि कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस वक्त कोरोना वायरस से बचने के तरीके बताए जा रहे हैं.

वहीं ऐसा करना किसी के लिए भी खतरे से खाली नही हैं. आइए आपको बताते हैं कोरोना वायरस के मामले में आपको क्या सावधानियां बरतनी हैं और कौन सी गलती करने से बचना है. इसके साथ कोरोना वायरस की जांच के लिए ऑनलाइन बाजार में यदि कोई टेस्ट किट मिल रही है, तो उस पर बिल्कुल विश्वास न करें. अभी तक कोरोना वायरस की जांच के लिए ऑफिशियल टेस्ट किट उपलब्ध नहीं है. तर्कहीन जानकारियों से बचें और डॉक्टर की सही सलाह मानें.

आपको बता दें कि कई ऑनलाइन विज्ञापनों में कोरोना वायरस के लिए स्पेशल फेस मास्क बेचने पर जोर दिया जा रहा है. आपको बता दें कि बाजार में कोरोना वायरस के लिए किसी तरह का स्पेशल फेस मास्क नहीं आया है. वहीँ कुछ लोग N95 फेस मास्क को बेहतर बता रहे हैं तो कुछ सर्जिकल मास्क को सही कह रहे हैं. जबकि हेल्थ एक्सपर्ट का साफतौर पर कहना है कि फेस मास्क कोरोना वायरस से आपका बचाव करेगा, इसकी कोई गारंटी नहीं है.

इसके साथ ही कोरोना वायरस के असर को कम करने वाले कुछ लोग वैक्सीन की तलाश कर रहे हैं, जबकि अभी तक इसके लिए अभी तक कोई वैक्सीन नहीं बनाई गई है. इसलिए बाजार से कोरोना वायरस का असर कम करने के नाम पर बिकने वाली औषधियों या तेल पर आंख बंद करके विश्वास ना करें. वहीं कई अलग-अलग वेबसाइटों पर कोरोना वायरस को ठीक करने के नुस्खे बताए जा रहे हैं. इस तरह की अंधविश्वासी बातों पर यकीन न करें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *