कोरोना का कहर : मध्य प्रदेश के इस गांव के लोगों ने स्वतः लगाया लॉकडाउन

desk । वैश्विक महामारी कोरोना के कहर से दुनिया आक्रांत है। तमाम देश अपने-अपने स्तर पर इससे बचाव के उपाय कर रहे हैं। भारत समेत कई देशों में वैक्सीन लगाने का भी अभियान चल रहा है। हालांकि लॉकडाउन को ही कोरोना से बचने का सबसे प्रभावी उपाय माना जा रहा है। देश के कई राज्यों में एक बार फिर से आंशिक लॉकडाउन लॉकडाउन लग चुका है। इस बीच मध्यप्रदेश के दमोह जिले के हिनोटा कलां गांव के लोगों ने खुद से लॉकडाउन लगा लिया है।

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण बेकाबू हो चूका है। सरकार की ओर से सभी जिलों में वीकेंड लॉकडाउन लगाया गया है। इन्हीं हालातों में दो दिन बाद मध्यप्रदेश के दमोह में विधानसभा का उपचुनाव सम्पन्न होना है, इसलिए दमोह में पाबंदियां सख्त नहीं हैं। अब चुनाव के समय कार्यकर्ताओं और नेताओं का आना जाना तो होगा ही। इसलिए कोरोना संक्रमण से बचने के लिए दमोह के हिनोटा कलां गांव के लोगों ने स्वतः ही लॉकडाउन लगा दिया है।

इस तरह हिनोटा कलां गांव ने देश के सामने एक उदाहरण पेश करते हुए लोगों को खुद सतर्क रहने का संदेश दिया है। हिनोटा कलां की आबादी लगभग 35000 है। इस समय गांव में गलियां सुनसान हैं और दुकानें भी बंद हैं। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए हिनोटा कलां गांव के लोगों ने बाहर के लोगों से खुद को अलग कर लिया है। हिनोटा कलां गांव से देश वासियों को सीख लेनी चाहिए। हिनोटा कलां वासियों द्वारा खुद अपने गांव में लॉकडाउन की घोषणा करने के बाद से ही वहां नेताओं का आगमन भी बंद हो गया है।

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ दिनों से देश में कोरोना की रफ़्तार में गुणात्मक इजाफा हुआ है। महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, पंजाब, मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश में हालात बेकाबू हो चुके हैं। दवाओं और ऑक्सीजन का अभाव है। अस्पतालों में बीएड पहले से ही फुल हैं। लखनऊ में तो शव को जलाने के लिए भी घंटों इन्तजार करना पड़ रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *