बिहार में Covid जांच में तेजी, रिकवरी रेट राष्ट्रीय औसत से करीब इतना फीसदी अधिक

बिहार में सोमवार को कोरोना सैंपल की जांच का आंकड़ा 50 लाख के करीब पहुंच गया। इस पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए राज्यवासियों और कोरोना योद्धाओं का आभार जताया।

पटना 14 सितंबर, यूपी किरण।  बिहार में सोमवार को कोरोना सैंपल की जांच का आंकड़ा 50 लाख के करीब पहुंच गया। इस पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए राज्यवासियों और कोरोना योद्धाओं का आभार जताया। कहा, सूबे में कोरोना जांच में न सिर्फ तेजी आयी है, बल्कि जांच का आंकड़ा 50 लाख के करीब पहुंच गया है।

                     

वहीं दूसरी ओर कोरोना से स्वस्थ होने वालों की संख्या में निरंतर इजाफा हो रहा है। रिकवरी रेट में भी बिहार अन्य राज्यों को पछड़ाते हुए पहले पायदान पर है और रिकवरी रेट 91 फीसदी के करीब है। यह राष्ट्रीय औसत से करीब 14 फीसदी अधिक है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग जांच में तेजी लाने के साथ-साथ कोरोना मरीजों को समुचित और बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करा रहा है।

    जांच की संख्या बढ़ने से जहां संक्रमितों की पहचान तेजी से हो रही है। वहीं, संक्रमितों की संख्या में भी कमी आ रही है। पिछले एक सप्ताह के अंदर संक्रमित मरीजों की संख्या में काफी कमी आयी है। बावजूद स्वास्थ्य विभाग राज्य के कोविड डेडिकेटेड अस्पताल और आइसोलेशन सेंटरों में बेडों की संख्या और स्वास्थ्य सुविधाओं में लगातार बढ़ोतरी कर रही है। साथ ही कोविड अस्पताल, आइसोलेशन सेंटर और होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की विभाग द्वारा लगातार मॉनिटरिंग और इलाज की जा रही है।

स्वास्थ्य मंत्री पांडेय ने राज्यवासियों से एक बार फिर अपील करते हुए कहा है कि लोग कोरोना से भयभीत न हों। सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए कोरोना की जांच में स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि कोरोना अब ना लाइलाज बीमारी है और न ही गंभीर। इस बीमारी के वैक्सिन का ट्रायल भी जारी है। एम्स, पटना में प्रथम चरण का ट्रायल सफल रहा। दूसरे चरण के ट्रायल पर भी काम चल रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *