बंगाल में भयावह स्थिति : भाजपा के 9 कार्यकर्ताओं की मौत, दो महिलाओं संग गैंगरेप, देखें वीडियो

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की प्रचंड जीत के बाद राज्य में कई स्थानों से हिंसा की खबरें आ रही हैं। बर्बर हिंसा के दौरान महिलाओं को भी निशाना बनाया जा रहा है और सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है। 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की प्रचंड जीत के बाद राज्य में कई स्थानों से हिंसा की खबरें आ रही हैं। बर्बर हिंसा के दौरान महिलाओं को भी निशाना बनाया जा रहा है और सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है। लोगों ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की बर्बर तरीके से हत्या की जा रही है और महिला पोलिंग एजेंट के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया है।
bjp-worker-murdered
भाजपा की प्रदेश इकाई ने सोमवार को अपने आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप में एक बयान जारी किया है, उसमें दावा किया है कि बीरभूम जिले के नानूर से भाजपा उम्मीदवार तारक साहा की पोलिंग एजेंट बनी दो महिला कार्यकर्ताओं से तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। इस दौरान एक महिला का अपहरण कर लिया गया है। इसके अलावा विधानसभा क्षेत्र के 12 गांवों में भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं के साथ शारीरिक उत्पीड़न व यौन शोषण की घटना को अंजाम दिया जा रहा है।

24 घंटे में 9 लोगों की मौत

BJP के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने दावा किया कि चुनाव के बाद शुरू हुई हिंसा में 24 घंटे में 9 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में डर का माहौल है। सत्ताधारी पार्टी हाथ बांध कर बैठी है। पुलिस कोई मदद नहीं कर रही है। हमने इस मसले पर राज्यपाल से मुलाकात की है। उन्होंने कार्रवाई का भरोसा दिया है।

अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव किया था

प्रदेश भाजपा के प्रभारी व महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि एक दिन में भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं व कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतारा गया है। इनमें से बेलियाघाटा के अभिजीत सरकार और सोनारपुर के हारन की बर्बर तरीके से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। उन्होंने दावा किया है कि हत्या से पहले अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव किया था, जिसमें उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा क्षेत्र में हिंसा के बारे में जानकारी दी थी। उसके 15 मिनट के बाद उन्हें पीट-पीटकर मार डाला गया।
चुनाव परिणाम आने के बाद ही रविवार रात अभिजीत सरकार ने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की हिंसक गतिविधियों पर एक फेसबुक लाइव किया था और इसके माध्यम से अपनी बात रखी थी। वीडियो के जरिए उन्होंने बताया था कि तृणमूल के गुंडे लगातार बमबारी कर रहे हैं और उनके घर और दफ्तर को तहस-नहस कर डाला है।
फेसबुक लाइव में इन घटनाओं के लिए अभिजीत ने तृणमूल विधायक स्वर्ण कमल साहा के लोगों को दोषी ठहराया था। लाइन वीडियों के थोड़ी देर बाद ही तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता उसके घर गए और पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी। भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा- भाजपा कार्यकर्ताओं पर यह हमले ममता बनर्जी की शह पर हो रहे हैं। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा मंगलवार को बंगाल के दौरे पर जा रहे हैं।

BJP ऑफिस पर हमला

नॉर्थ 24 परगना जिले के भाटपाड़ा में BJP के ऑफिस और कुछ दुकानों पर कुछ लोगों ने हमला कर तोड़फोड़ की गई। इस दौरान बम भी फेंके गए। एक शख्स ने बताया कि TMC के उपद्रवियों ने मेरी दुकान लूट ली। यहां कम से कम 10 बम फेंके गए हैं। कूचबिहार के सितलकुची से भी हिंसा की खबरें हैं। नंदीग्राम में BJP के ऑफिस में तोड़फोड़ की गई।

कोविड प्रोटोकॉल के साथ पूरे देश में धरना देंगे भाजपा कार्यकर्ता

भाजपा ने पश्चिम बंगाल में अपने कार्यकर्ताओं पर हो रहे हमलों के विरोध का फैसला किया। पार्टी ने एक बयान में कहा- 5 मई को पार्टी कार्यकर्ता हर मंडल में इस हिंसा के विरोध में धरना देंगे। इस दौरान कोविड-19 से संबंधित प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।

राज्यपाल ने पुलिस अफसरों से जवाब मांगा

राज्य में आगजनी, लूटपाट और हिंसा की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सोमवार को पुलिस महानिदेशक (DGP) और कोलकाता पुलिस कमिश्नर को लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति पर बात करने के लिए बुलाया। उन्होंने कहा कि नतीजे आने के बाद राज्य में हो रहीं हत्याएं खतरनाक स्थिति का संकेत हैं। पुलिस अफसरों से कानून का राज बहाल करने के लिए सभी कदम उठाने के लिए कहा गया है।

राज्यपाल ने कहा कि यह दुख की बात है कि चुनाव के बाद राजनीतिक हिंसा में 9 लोगों की जान चली गई और कई लोग घायल हो गए। इस तरह की राजनीतिक हिंसा और अराजकता की अनदेखी नहीं की जा सकती। उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *