​​इन दो देशों के रक्षा शिष्‍टमण्‍डलों ने किया, इस मुद्दे पर सहयोग करने के लिये विचार-विमर्श

रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल (डीटीटीआई) समूह की​ ​​10वीं ​बैठक ​​वर्चुअल​ माध्यम से ​की गई।

नई दिल्ली, 16 सितम्बर, यूपी किरण। रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल (डीटीटीआई) समूह की​ ​10वीं बैठक ​​वर्चुअल​ माध्यम से ​की गई। इस बैठक की सह-अध्यक्षता भारत के रक्षा मंत्रालय में रक्षा उत्‍पादन सचिव राजकुमार और अमेरिका की ओर से अंडर सेक्रेटरी ऑ‍फ डिफेंस फॉर ऐक्विजिशन एंड स​​स्‍टेनमेंट सुश्री एलेन एम लॉर्ड ने की। डीटीटीआई समूह की बैठकें आमतौर पर साल में दो बार दोनों देशों में बारी-बारी से आयोजित की जाती हैं। इस बार कोविड महामारी के कारण इस बैठक का आयोजन वर्चुअल​ माध्यम से हुआ।
डीटीटीआई समूह का उद्देश्य द्विपक्षीय रक्षा व्यापार संबंधों पर लगातार नेतृत्‍व का ध्‍यान केन्द्रित करना और रक्षा उपकरणों के सह-उत्पादन और सह-विकास के लिए अवसर सृजित करना है। चार संयुक्‍त कार्य समूह भूमि, नौसेना, वायु और विमान वाहक प्रौद्योगिकियों पर ध्‍यान केन्द्रित करते हैं। इन्‍हें अपने-अपने क्षेत्रों में पारस्‍परिक रूप से सहमत परियोजनाओं को बढ़ावा देने के लिए डीटीटीआई के तहत स्‍थापित किया गया है। इन समूहों ने प्राथमिकता के आधार पर पूरा किए जाने के लिए लक्षित अनेक निकट अवधि परियोजनाओं सहित मौजूदा गतिविधियों और सहयोगी अवसरों के बारे में सह-अध्‍यक्षों को रिपोर्ट प्रस्‍तुत की है।
डीटीटीआई की सफलता को प्रदर्शित करने की अपनी प्रतिबद्धता के साक्ष्य के रूप में सह-अध्यक्षों ने आशय के वक्‍तव्‍य (एसओआई) पर हस्ताक्षर किए हैं, जो अनेक विशिष्ट डीटीटीआई परियोजनाओं के बारे में विस्‍तृत योजना और गौर करने लायक प्रगति के अनुपालन द्वारा रक्षा प्रौद्योगिकी सहयोग पर वार्ता को मजबूत करने के उनके इरादे की घोषणा करता है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *