Disturbance : कहाँ और कैसे हुआ धार्मिक आयोजन में बवाल ?

शहर में चल रहे तीन दिवसीय उर्स-ए-रजवी में दो दिन तक हजारों की भीड़ को नजरंदाज करने की चूक शहर पर भारी पड़ते-पड़ते रह गई।

बरेली : शहर में चल रहे तीन दिवसीय उर्स-ए-रजवी में दो दिन तक हजारों की भीड़ को नजरंदाज करने की चूक शहर पर भारी पड़ते-पड़ते रह गई। सोमवार को जायरीन के तमाम और जत्थे कुल शरीफ में शामिल होने सड़कों पर निकले तो आनन-फानन बैरिकेडिंग कर उन्हें रोकने की कोशिश की गई। इस पर टकराव और बवाल की नौबत आ गई। श्यामगंज में जायरीन ने पुलिस पर पथराव कर दिया जिसके बाद पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा।

three day urs

हंगामे और भगदड़ के बीच व्यापारी बाजार बंद कर भाग निकले। कुछ ही देर में शहर में आधे से ज्यादा बाजार बंद हो गया। देर शाम इस मामले में छह लोगों को नामजद करते हुए चार सौ लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई। एक आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया गया।

इस्लामिया ग्राउंड पर शनिवार को शुरू हुए उर्स-ए-रजवी का सोमवार को कुल था। उर्स में पहले ही दिन से हजारों जायरीन शिरकत करने पहुंचे थे। रविवार को यह भीड़ और बढ़ी तो इस्लामिया ग्राउंड के आसपास के तमाम इलाके जायरीन की भीड़ से पट गए। सोमवार को कुल में शामिल होने सुबह से ही जायरीन के जत्थे सड़कों पर निकलने शुरू हुए, तब कहीं प्रशासन हरकत में आया।

दोपहर करीब 12 बजे एकाएक श्यामगंज चौराहे पर बैरिकेडिंग कर कालीबाड़ी होते हुए इस्लामिया ग्राउंड की ओर जाने वाला रास्ता बंद कर दिया गया।

इस पर पुलिस से नोकझोंक शुरू हो गई। दो युवकों ने एक अधिकारी और पुलिसकर्मी से बदसलूकी की तो पुलिस वालों ने दौड़कर दोनों को पकड़ लिया। इस पर भड़की भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। कुछ देर तो पुलिस ने बचाव की कोशिश की, फिर लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ना शुरू कर दिया। पथराव और लाठीचार्ज से बाजार में भगदड़ मच गई। माहौल खराब होता देख आनन-फानन व्यापारी दुकानें बंद करके निकल गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *