Devshayani Ekadashi के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए लिए करें ये खास उपाए

पौरणिक मान्यता है कि आज के दिन भगवान विष्णु चार मास के लिए योग निद्रा में चले जाते हैं। इन चार मास कोई भी मांगलिक कार्य नहीं होता है।

पौरणिक मान्यता है कि आज के दिन भगवान विष्णु चार मास के लिए योग निद्रा में चले जाते हैं। इन चार मास कोई भी मांगलिक कार्य नहीं होता है। इस लिये देवशयनी एकादशी (Devshayani Ekadashi) के दिन भगवान विष्णु के पूजन का विशेष महत्व है। आज योग निद्रा में जाने से पहले विष्णु जी को प्रसन्न कर उनसे मन की मुरादें पूरी की जा सकती हैं। तो आइए जानते हैं आज देवशयनी एकादशी पर भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के उपाय….

Lord Vishnu - Devshayani Ekadashi

1- आज देवशयनी एकादशी (Devshayani Ekadashi) के दिन दक्षिणावर्ती शंख में गंगाजल डालकर उससे भगवान विष्णु का अभिषेक करना चाहिए। ऐसा करने से भगवान विष्णु प्रसन्न हो कर आपकी सभी मनोकामना पूरी करेंगे।

2- देवशयनी एकादशी (Devshayani Ekadashi) पर भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए पीले फल, पीली मिठई या पीले वस्त्र भगवान विष्णु को चढ़ाए तथा इनका दान करें। पीली वस्तुएं भगवान विष्णु को विशेष रूप से प्रिय हैं।

3-धन लाभ के लिए देवशयनी एकादशी (Devshayani Ekadashi) के दिन भगवान विष्णु के साथ लक्ष्मी मां की भी पूजा करनी चाहिए। भगवान विष्णु के लक्ष्मी नारायण रूप की पूजा और आरती करें। मां लक्ष्मी की अवश्य कृपा होगी।

4-देवशयनी एकादशी (Devshayani Ekadashi) पर गाय के दूध में केसर डालकर भगवान विष्णु को अर्पित करें, भगवान विष्णु जरूर प्रसन्न होंगे। धन-धान्य की प्राप्ति के लिए विष्णु जी के साथ माता लक्ष्मी का केसर मिले जल से अभिषेक करना चाहिए।

5- एकादशी (Devshayani Ekadashi) के दिन ‘ॐ नमो नारायणाय’ या ‘ॐ नमो भगवते वसुदेवाय नम:’ मंत्र का 108 बार तुलसी की माला से जाप करें। भगवान विष्णु सारे संकट और दुख दूर करते हैं और सभी मनेकामनाओं की पूर्ति होती है।

Mercury Pradosh Vrat 2021 का संयोग बन रहा हैं 21 जुलाई दिन बुधवार को, पड़ने के कारण जानें
Eid-Ul-Adha 2021 का त्योहार पूरे देश में कल 21 जुलाई को मनाया जाएगा
Monsoon Session 2021: हंगामे के चलते दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित, संसद भवन में टीएमसी का प्रदर्शन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *