कोरोना होने पर झोलाछाप डॉक्टर ने दी थी ये दवा! एक ही परिवार के 8 लोगों की मौत, 5 की हालत गंभीर

बताया जा रहा है कि कोविड-19 महामारी के लक्षण होने पर परिवार ने किसी झोलाछाप डॉक्टर की सलाह पर होम्योपैथिक दवा ली थी।

छत्तीसगढ़॥ जनपद बिलासपुर में एक ही फैमिली के 8 सदस्यों की मौत होने की दुःखद जानकारी प्रकाश में आ रही है, साथ ही 5 अन्य की हालत गंभीर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि कोविड-19 महामारी के लक्षण होने पर परिवार ने किसी झोलाछाप डॉक्टर की सलाह पर होम्योपैथिक दवा ली थी। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है और दूसरे संभावित एंगल से भी जांच कर रही है।

dead body
फोटो- प्रतीकात्मक

घटना बिलासपुर के सिरगिट्टी थाना इलाके से प्रकाश में आई है। यहां कोरमी गांव में परिवार के सभी लोगों ने वायरस के लक्षण होने पर एल्कोहल युक्त होम्यैपैथिक दवा पी थी। इन्होंने होम्योपैथिक दवा ड्रोसेरा-30 का सेवन किया था। किंतु इसके कुछ ही देर बाद ही सबकी तबीयत बिगड़ने लगी और एक के बाद एक आठ लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में से चार लोगों का अंतिम संस्कार रात में ही कर दिया गया था, इसलिए मामला संदिग्ध भी हो गया है।

वहीं, पांच लोगों की हालत अब भी गंभीर है और वे हॉस्पिटल में एडमिट हैं। बिलासपुर के CMO ने बताया कि होम्योपैथिक दवा पीने से परिवार के 8 लोगों की मौत हुई तो 5 हॉस्पिटल में भर्ती हैं। उन्होंने आगे कहा कि इन्होंने होम्योपैथिक दवा ड्रोसेरा 30 (Drosera 30) पी थी, जिसमें 91 फीसदी एल्कोहल होता है। डॉक्टर फिलहाल फरार बताया जा रहा है, जिसकी तलाश जारी है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *