सम्पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा, इस राज्य में रहेगा सब कुछ बंद

कोरोना संकट के चलते राजकोट, मांगरोल, खेडब्रह्मा, जूनागढ़ में आठ दिन का लॉकडाउन

नई दिल्ली॥ गुजरात में कोरोना का प्रकोप बढ़ने से क्षेत्रीय लोग अपने स्तर से लॉकडाउन की घोषणा कर रहे हैं। राजकोट, खेडब्रह्मा और जूनागढ़ में लोगों ने आज से स्वैच्छिक बंद की घोषणा की। कई इलाकों में 21 सितम्बर तक आठ दिन का लॉकडाउन रहेगा।

lockdown

राज्य सरकार एक के बाद एक अनलॉक की घोषणा कर रही है, लेकिन राज्य के लोग कोरोना को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन का सहारा ले रहे हैं। खेडब्रह्मा शहर और तहसील क्षेत्र में कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है। खेडब्रह्मा में 14 से 21 तारीख तक के लिये बाजार आज सोमवार से बंद रहेगा। आवश्यक सामानों की खरीद के लिए बाजार सुबह 8 से 11 बजे तक खुला रहेगा। खेड़ब्रह्म नगरपालिका, विभिन्न व्यापार संघों ने भी बाजार बंद रखने का निर्णय लिया है।

इस बंद को वाहन चालकों ने भी अपना समर्थन देकर किया है।नगरपालिका ने कस्बे की गलियों में घोषणा कर आठ दिन तक बाजार बंद रखने की अपील की है। हालांकि, इस दौरान दूध पार्लर, मेडिकल स्टोर, अस्पताल और सरकारी कार्यालय जैसी आवश्यक सेवाएं खुली रहेंगी।

12 दिन का लॉकडाउन

सूरत के मांगरोल तहसील क्षेत्र में भी 12 सितम्बर से 12 दिन का लॉकडाउन तालाबंदी की घोषणा की गई है। ग्राम पंचायत ने कोरोना के मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह निर्णय लिया है। मांगरोल के बाजार सुबह 7 से 11 बजे तक खुले रहेंगे, लेकिन केवल आवश्यक सेवाएं जैसे कि चिकित्सा और दूध की दुकानें खुलेंगी। मुस्लिम नेताओं ने तहसील मुख्यालय में मुख्य जुम्मा मस्जिद को बंद करने का भी फैसला किया है।

राजकोट दानापीठ के व्यापारियों ने भी आधे दिन की स्वैच्छिक तालाबंदी की घोषणा की है। राजकोट दानापीठ के व्यापारियों ने यह फैसला लिया है कि स्टोर केवल सोमवार को सुबह 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक खुलेंगे। यदि स्थिति पर नियंत्रण का असर दिखा तो दुकानें 20 सितम्बर से खोली जाएंगी।

राजकोट में अबतक 35 ज्वैलर्स की मौत हो चुकी है। यहां शनिवार से सोनी बाजार में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है। दूसरी ओर, जूनागढ़ के मानावदर में कोयलाना घाड क्षेत्र में भी स्वैच्छिक लॉकडाउन किया गया है।

रविवार को कोरोना से 1326 नए मरीज सामने आये हैं। गुजरात में कोरोना मामलों की संख्या 1,13,662 हो गई है। अब तक कुल 94,010 मरीज ठीक हो चुके हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *