बेहतरीन संवाद और दमदार अभिनय ने दर्शकों को इरफान खान का दीवाना बनाया

आज बॉलीवुड के उस दिग्गज कलाकार की बात करेंगे जो हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनका बेमिसाल अभिनय अभी भी सिनेमा प्रशंसकों के दिलों दिमाग पर छाया हुआ है ।

आज बॉलीवुड के उस दिग्गज कलाकार की बात करेंगे जो हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनका बेमिसाल अभिनय अभी भी सिनेमा प्रशंसकों के दिलों दिमाग पर छाया हुआ है । जी हां आज 7 जनवरी है ऐसे में उस कलाकार की याद आती है जिन्होंने कम समय में एक ऐसा मुकाम बनाया जो फिल्मी पर्दे पर अदायगी की अलग छाप छोड़ता चला गया ।

irfan

हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड कलाकार इरफान खान की । लगभग आठ महीने पहले इस महान कलाकार को हिंदी सिनेमा के साथ करोड़ों प्रशंसकों ने खो दिया ।‌ आज इरफान का जन्मदिन है । इरफान खान ने फिल्मी पर्दे पर हर किरदार में जबरदस्त अभिनय किया। गैर फिल्मी परिवेश में होने के बावजूद भी उन्होंने बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बनाई। कम समय में ही उनकी एक्टिंग के दर्शक मुरीद हो गए । ‘सिनेमा के हर किरदारों में इरफान खान अपने आप को ढालते चले गए’ ।

सबसे खास बात यह रही कि उनकी ‘संवाद अदायगी’ ऐसी थी कि प्रशंसकों को दीवाना बनाती चली गई । बता दें कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कुछ चुनिंदा एक्टर्स ऐसे हैं जिन्होंने बॉलीवुड के साथ हॉलीवुड की फिल्मों में भी काम किया है और उनमें से एक अभिनेता इरफान खान भी थे । इस एक्टर ने थिएटर से टीवी और टीवी से फिल्मों तक एक्टिंग का शानदार सफर तय किया और नायक-विलेन दोनों किरदारों में फिट बैठे । आइए आज दिवंगत अभिनेता इरफान के फिल्मी सफर के बारे में जानते हैं ।

इरफान खान का जन्म 7 जनवरी 1967 को जयपुर में हुआ था

अभिनेता इरफान खान का जन्म 7 जनवरी वर्ष 1967 को जयपुर में हुआ । उनके पिता बिजनेस किया करते थे। जन्म के वक्त इरफान का नाम साहबजादे इरफान अली खान था। इरफान एमए कर रहे थे जब उन्हें दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप मिली और इरफान ने एनएसडी से 1984 में एक्टिंग की शिक्षा ली। उसके बाद उन्होंने अभिनेता बनने की ठान ली। इरफान ने 1995 को एनएसडी ग्रेजुएट सुतपा सिकदर से निकाह किया, उनके दो बेटे बाबिल और अयान हैं ।

बता दें कि 90 के दशक में इरफान खान ने एनएसडी दिल्ली से पढ़ाई पूरी कर अभिनय करने के लिए मुंबई का रुख किया। एक्टिंग में माहिर हो चुके इरफान को मुंबई में थोड़ा बहुत संघर्ष करना पड़ा था लेकिन जल्द ही उनकी किस्मत छोटे पर्दे पर खुल गई। इरफान ने ‘चाणक्य’, ‘भारत एक खोज’, ‘सारा जहां हमारा’, ‘बनेगी अपनी बात’, ‘चंद्रकांता’ और ‘श्रीकांत’ जैसे सीरियल में काम किया। इन धारावाहिकों में जबरदस्त अभिनय की वजह से उनकी पहचान बन चुकी थी।

फिल्म ‘सलाम बॉम्बे’ से हुई फिल्मी करियर की शुरुआत

थिएटर और टीवी के धारावाहिकों में जमकर काम करते हुए इरफान को फिल्ममेकर मीरा नायर ने अपनी फिल्म ‘सलाम बॉम्बे’ में एक कैमियो रोल दिया लेकिन जब फिल्म रिलीज हुई तो उनका हिस्सा काट दिया गया था। साल 1990 में इरफान ने क्रिटिक्स के द्वारा सराही गई फिल्म ‘एक डॉक्टर की मौत’ में काम किया। उसके बाद इरफान ने ‘द वॉरियर’ और ‘मकबूल’ जैसी फिल्मों में भी अहम किरदार निभाए।

मकबूल फिल्म में उनके अभिनय को दर्शकों ने खूब सराहा। उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा कई फिल्मों में अपनी दमदार अभिनय की वजह से दर्शकों में अलग छाप छोड़ते चले गए। इरफान खान ने पहली बार 2005 की फिल्म ‘रोग’ में लीड रोल किया। उसके बाद फिल्म ‘हासिल’ के लिए उन्हें उस साल का ‘बेस्ट विलेन’ का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था। इरफान खान ने ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ फिल्म में भी पुलिस इंस्पेक्टर का अहम किरदार निभाया।

इस फिल्म को कई पुरस्कारों से नवाजा गया। उसके बाद इरफान ने ‘लंचबॉक्स’, ‘गुंडे’, ‘हैदर’ ‘पीकू’ और जुरासिक वर्ल्ड’ में भी काम किया। ‘किस्सा’, ‘हिंदी मीडियम’, ’द नेमसेक’ जैसी फिल्में असल जिंदगी की कहानी पर आधारित थी। इसके अलावा पीकू, हैदर, लाइफ ऑफ पाई, लाइफ इन ए मेट्रो, कारवां फिल्मों में इरफान खान ने शानदार अभिनय किया और बॉलीवुड में अपनी सशक्त अभिनेताओं में जगह बनाई।

‘पान सिंह तोमर’ में इरफान के अभिनय की दर्शकों ने खूब सराहना की—–

अभिनेता इरफान खान ने फिल्म ‘पान सिंह तोमर’ में निभाया किरदार को दर्शकों ने जबरदस्त सराहना की। यह फिल्म देश और विदेशाें में भी सुपरहिट रही । इरफान को फिल्म ‘पान सिंह तोमर’ के लिए ‘नेशनल अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया साथ ही उन्हें भारत सरकार की तरफ से ‘पद्मश्री अवॉर्ड’ भी दिया गया । इरफान हमेशा अलग तरह की फिल्में करते थे ।

वह अपने कंफर्ट जाेन से बाहर आकर रोल चुनते, जो दर्शकों का न सिर्फ मनोरंजन करते बल्कि उनके दिमाग पर गहरी छाप भी छोड़ते । बता दें कि वर्ष 2018 में इरफान खान गंभीर बीमारी से घिर गए थे। इरफान की बीमारी को जानकर लाखों प्रशंसक मायूस हो गए । इरफान ‘न्यूरो इंडोक्राइन ट्यूमर’ नामक गंभीर बीमारी के शिकार थे, उन्होंने अपना इलाज लंदन में करवाया। लंदन से इलाज करवाकर लौटे इरफान खान ने ‘अंग्रेजी मीडियम’ की शूटिंग पूरी की । यह फिल्म पिछले वर्ष मार्च में रिलीज हुई थी ।

आखिरकार इरफान खान 29 अप्रैल 2020 को दुनिया को अलविदा कह दिया । बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर इरफान खान की मौत ने बॉलीवुड के साथ लाखों प्रशंसकों को अंदर तक हिला कर रख दिया, उनका जाना हर किसी के आंखों में आंसू दे गया । बता दें कि अब एक्टर के फैंस के लिए एक खुशखबरी है। इरफान खान की आखिरी फिल्म ‘द सॉन्ग ऑफ स्कॉर्पियंस 2021 में रिलीज होने जा रही हैं ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *