ससुर ने 80 हजार में तय किया बहू का सौदा, फिर 8 लोगों को बुलाकर…पढ़ें हैरान करने वाला मामला

उप्र के जनपद बाराबंकी में एक ससुर ने अपनी बहू का 80 हजार रुपये में सौदा कर दिया। गुजरात से महिला को लेने पहुंचे तीन महिला समेत आठ लोगों को पुलिस ने  धर दबोचा।

बाराबंकी। उप्र के जनपद बाराबंकी में एक ससुर ने अपनी बहू का 80 हजार रुपये में सौदा कर दिया। गुजरात से महिला को लेने पहुंचे तीन महिला समेत आठ लोगों को पुलिस ने  धर दबोचा। जबकि मुख्य आरोपित ससुर समेत दो लोग फरार है। पुलिस ने महिला के पति की तहरीर पर मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।
father-in-law did daughter-in-law's deal
अपर पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार सिंह ने बताया थाना रामनगर के मल्ला पुर गांव में रहने वाले चन्द्र राम वर्मा ने 80 हजार रुपये में अपनी बहू का सौदा गुजरात में रहने वाले लोगों से की। रविवार को जब गुजरात से लोग महिला को लेने के लिए बाराबंकी स्टेशन पहुंचे तो महिला के पति की सूचना पर पुलिस ने सभी को पकड़ लिया।

ये लोग पकड़े गए

एएसपी ने बताया कि पीड़ित प्रिंस वर्मा ने अपने पिता और अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया हैं। आरोप है कि उसकी पत्नी को उसके पिता ने 80 हजार रुपये में गिरफ्तार किये गए लोगों के हाथों बेचा है। पकड़ी गई महिलाओं सहित कुल आठ लोगों से पूछताछ की गई तो उन्होंने अपने नाम साहिल पंचा, पप्पू भाई शर्मा, अपूर्व पंचा, गीता बेन, नीता बेन, शिल्पा बेन, राकेश और अजय भाई पंचा बताया।

बीमारी का बहाना कर बहू को बुलाया

पीड़ित प्रिंस ने बताया कि उसके पिता का एक परिचित युवक रामू गौतम गुजरात में रहता है और वहां एक व्यक्ति शाहिल पंचा की शादी नही हो रही थी। राजू ने शाहिल की बात चन्द्र राम वर्मा से करायी और शादी कराने की एवज में 80 हजार रुपये देने की बात हुई। जब उसे कोई लड़की नही मिली तो चन्द्र राम ने अपनी बहू की फोटो भेज दी।
आरोप है कि उसकी बहू और बेटा प्रिंस गाजियाबाद में रहता है। बहू को बुलाने के लिए उसने अपनी बीमारी का नाटक किया और बेटे से बहू को भेजने के लिए मना लिया। बहू जब घर आयी तो उसके खरीदारों को भी चन्द्रराम वर्मा ने अगले ही दिन बुला लिया और बहू को गाजियाबाद भेजने का झांसा देकर साथ जाने के लिए कह दिया। बेटे के बगैर बहू को लाने की बात प्रिंस को शक कर गई और उसने पत्नी से बातचीत के बाद पुलिस को सूचना दे दी।

​पिता का चाल-चलन ठीक नहीं, मां की हत्या कर दी थी-प्रिंस

प्रिंस ने बताया कि उसके ​पिता का चाल-चलन ठीक नहीं है। इसका विरोध करने पर उसने उसकी मां की हत्या कर दी थी। इसके बाद वह पिता को छोड़कर गाजियाबाद में रहकर टैक्सी चलाने का काम करने लगा। उसने एक असमिया लड़की से शादी कर ली थी। अब वह उसकी पत्नी को भी बेचने वाला था।
इस मामले में बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार सिंह ने बताया कि प्रिंस वर्मा की सूचना पर पुलिस ने रेलवे स्टेशन से तीन महिलाओं समेत आठ लोगों को पकड़ा है। आरोपित ससुर चन्द्र राम वर्मा और उसका सहयोगी रामू गौतम फरार है, पुलिस जल्द ही इन दोनों को गिरफ्तार कर लेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *