हैप्पी बर्थडे शाहरुख खान : ये है किंग खान की फिल्मों के कुछ मशहूर डायलॉग

लेकिन उनके द्वारा निभाए गए रोमांटिक किरदारों को दर्शकों ने सबसे ज्यादा पसंद किया और उन्हें किंग ऑफ रोमांस की उपाधि दे दी। आज शाहरुख खान के जन्मदिन पर जानते हैं उनकी कुछ फिल्मों के कुछ मशहूर डायलॉग, जो आज भी दर्शकों की जुबान पर हैं।

मुंबई। बॉलीवुड के किंग खान यानी शाहरुख खान आज अपना 55वां जन्मदिन मना रहे हैं। अपने शानदार अभिनय से लाखों दिलों पर राज करने वाले शाहरुख खान ने वैसे तो बॉलीवुड में हर तरह के किरदार निभाए हैं फिर चाहे वह नायक का हो या खलनायक का। लेकिन उनके द्वारा निभाए गए रोमांटिक किरदारों को दर्शकों ने सबसे ज्यादा पसंद किया और उन्हें किंग ऑफ रोमांस की उपाधि दे दी। आज शाहरुख खान के जन्मदिन पर जानते हैं उनकी कुछ फिल्मों के कुछ मशहूर डायलॉग, जो आज भी दर्शकों की जुबान पर हैं।
femous daylogs of shahrukh khan
बाजीगर:- साल 1993 में आई अब्बास-मस्तान द्वारा निर्देशित फिल्म ‘बाजीगर’ में शाहरुख खान द्वारा बोला गया संवाद ‘कभी कभी जीतने के लिए कुछ हारना भी पड़ता है… और हार कर जीतने वाले को बाजीगर कहते हैं’ आज भी दर्शकों के बीच काफी मशहूर है।
दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे:- शाहरुख खान और काजोल अभिनीत रोमांटिक फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ 1995 में 1995 में रिलीज हुई। फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ में शाहरुख खान द्वारा बोला गया डायलॉग ‘अगर ये तुझे प्यार करती है तो ये पलट कर देखेगी… पलट! पलट!’ और ‘बड़े-बड़े शहरों में छोटी-छोटी बातें होती रहती है सेनोरिटा’ आज भी अक्सर युवाओं के बीच सुना जा सकता हैं।
कुछ-कुछ होता हैं:- शाहरुख खान, काजोल और रानी मुखर्जी अभिनीत साल 1998 में रिलीज हुई फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ को दर्शकों ने काफी पसंद किया। करण जौहर द्वारा निर्देशित इस फिल्म में शाहरुख खान का डायलॉग ‘हम एक बार जीते हैं, एक बार मरते हैं, शादी भी एक बार होती है और प्यार भी एक ही बार होता है’ आज भी हर प्रेमी जोड़े को रोमांचित कर जाता है।
कभी खुशी कभी गम:- साल 2001 में रिलीज हुई फिल्म ‘कभी खुशी कभी गम’ का संवाद ‘जिंदगी में कुछ बनना हो, कुछ हासिल करना हो, कुछ जीतना हो तो हमेशा अपने दिल की सुनो, और अगर दिल से भी कोई जवाब ना आए तो अपनी आंखें बंद करके अपने मां और बाबा का नाम लो। फिर देखना तुम हर मंजिल पा सकोगे, हर मुश्किल आसान हो जाएंगी, जीत तुम्हारी ही होगी, सिर्फ तुम्हारी’ ने हर किसी के दिल को छुआ और आज भी इस संवाद को दर्शक पूरे दिल से कहते हैं।
ओम शांति ओम:- साल 2007 में आई फिल्म ‘ओम शांति ओम’ के संवाद ‘इतनी शिद्दत से मैंने तुम्हें पाने की कोशिश की है…कि हर जर्रे ने मुझे तुमसे मिलाने की साजिश की है। कहते हैं कि अगर किसी चीज को दिल से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है’ से आज भी दर्शक प्रेरित होते हैं।
चेन्नई एक्सप्रेस:- साल 2013 में शाहरुख खान और दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म चेन्नई एक्सप्रेस के इस संवाद ‘डोंट अंडरएस्टीमेट द पावर ऑफ अ कॉमन मैन’ को आज भी दर्शकों के बीच हंसी मजाक में सुनने को मिल जाता हैं।
इन सबके अलावा भी शाहरुख खान की कई फिल्मों के अनगिनत ऐसे डायलॉग है जो दर्शकों के बीच आज भी काफी पसंद किए जाते हैं और जिन्हें अक्सर दर्शकों के बीच सुना का सकता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *