KKR और CSK के बीच खेला जाएगा फाइनल मैच, जानें दोनों टीमों की सबसे बड़ी कमजोरी

KKR 2014 सीज़न के सात साल बाद इंडियन प्रीमियर लीग फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में कामयाब रही

190 दिनों का सब्र, 8 टीमों के बीच जबरदस्त मुकाबला, 60 मैचों का रोमांच और इस साल का आईपीएल खिताब, इन सबके बाद ही पता चलेगा कि 2021 का चैंपियन कौन है। CSK का मुकाबला KKR से होने वाला है। शुक्रवार, 15 अक्टूबर को दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में 2021 IPL का फाइनल।

CSK KKR

आपको बता दें कि KKR 2014 सीज़न के सात साल बाद इंडियन प्रीमियर लीग फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में कामयाब रही। आईपीएल 2021 के खिताब की दौड़ में भले ही विशेषज्ञ सीएसके को खिताब का प्रबल दावेदार बता रहे हों, लेकिन दो बार की चैंपियन और इस साल अपनी खतरनाक गेंदबाजी के दम पर फाइनल में प्रवेश करने वाली कोलकाता भी कम नहीं है। आइए जानते हैं क्या कहते हैं आंकड़े।

जानें CSK चेन्नई की ताकत

CSK की बात करें तो उनकी सबसे बड़ी ताकत कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हैं। धोनी का दिमाग कभी भी खेल को पलट सकता है। इसके बाद चेन्नई की ओपनिंग बैटिंग काफी मजबूत है। इस टीम की ओपनिंग जोड़ी ने पूरे टूर्नामेंट में अच्छी शुरुआत की है। इसके साथ ही ऑरेंज कैप के दो दावेदार भी इस टीम में शामिल हैं।

CSK की बैटिंग में काफी गहराई है। चेन्नई की कमजोरी की बात करें तो वह कोलकाता के गेंदबाजी आक्रमण से काफी कमजोर है। इस टीम का मध्यक्रम सबसे कमजोर कड़ी है। किंतु यदि CSK पिछले मैच में रॉबिन उथप्पा के बेहतरीन प्रदर्शन से फाइनल में पहुंची तो टीम के लिए थोड़ी राहत की बात होगी।

जानें KKR की ताकत

KKR की बैटिंग के साथ-साथ इस टीम का गेंदबाजी आक्रमण भी बहुत मजबूत है। नारायण और वरुण चक्रवर्ती का किरदार निभाना सबके लिए आसान नहीं रहा है। ये 2 खिलाड़ी कोलकाता के लिए सबसे बड़ी ताकत हैं। दोनों खिलाड़ियों के 8 ओवर खेलना किसी भी बल्लेबाज के लिए चुनौतीपूर्ण होता है।

ओपनिंग जोड़ी ने अब तक पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया है। KKR की कमजोरी इयोन मोर्गन और दिनेश कार्तिक जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं। दोनों खिलाड़ियों के बल्ले से अब तक कोई बड़ी पारी नहीं खेली गई है। कोलकाता के पास तीसरी बार आईपीएल जीतने का अच्छा मौका होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *