पूर्व सीएम अखिलेश यादव का मुरीद हुआ मायावती का ये करीबी नेता, बसपा छोड़ सपा में हुए शामिल

उत्तर प्रदेश॥ सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के समक्ष आज झांसी के जुगल किशोर कुशवाहा, एडवोकेट मायावती की पार्टी छोड़कर सपा में शामिल हो गए। उन्होंने सपा की नीतियों एवं सपा अध्यक्ष के नेतृत्व के प्रति निष्ठा जताते हुए सन् 2022 के चुनावों में राज्य में अखिलेश सरकार बनाने का संकल्प लिया।

AKHILESH

जानकारी के मुताबिक, जुगल किशोर कुशवाहा लोकसभा क्षेत्र झांसी के पूर्व प्रभारी बीएसपी रहे हैं, जुगल किशोर कुशवाहा अखिल भारतीय कुशवाहा महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे। रेल कर्मचारी संगठन के जोनल अध्यक्ष भी रहे हैं।

वे लोकसभा क्षेत्र झांसी के पूर्व प्रभारी बीएसपी भी रहे हैं। कुशवाहा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने कुशवाहा समाज को धोखा दिया है। वह गरीबों और कमजोर तबकों की नहीं कारपोरेट घरानों की समर्थक पार्टी है। सपा सामाजिक न्याय की पक्षधर है। सपा जनसंख्या के अनुपात में सम्मान और हक देने के लिए जातिवार जनगणना की मांग करती आई है।

सपा विकास चाहती है

सामाजिक तानाबाना सुधरेगा। समाज में पिछड़ों, दलितों, शोषितों और आर्थिक रूप से मजबूर लोगों की बेहतर जिंदगी के लिए काम किए थे। समाजवादी सरकार ने जो काम किए थे, भाजपा सरकार ने उन्हें चैपट कर दिया है। सपा विकास चाहती है। भाजपा विकास विरोधी है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close