Char Dham Yatra 2021: यात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी, हाई कोर्ट से उत्तराखंड सरकार मिली बड़ी राहत

हाई कोर्ट के फैसले में संशोधन के बाद अब केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम में (Char Dham Yatra 2021) यात्रियों की संख्या को बढ़ाते हुए कोर्ट ने कहा कि अब कोई भी श्रद्धालु तीर्थ यात्रा पर जा सकता है.

उत्तराखंड सरकार को हाई कोर्ट से चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra 2021) के मामले में बड़ी राहत मिलने की खबर आई है. आपको बता दें कि प्रतिदिन सीमित संख्या में यात्रियों को धामों में प्रवेश दिए जाने के हाई कोर्ट के फैसले में संशोधन के बाद अब केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम में यात्रियों की संख्या को बढ़ाते हुए कोर्ट ने कहा कि अब कोई भी श्रद्धालु तीर्थ यात्रा पर जा सकता है.

Char Dham Yatra 2021

वहीँ बता दें कि बड़ी खबर यह आ रही है कि कोर्ट ने यात्रियों की संख्या अनलिमिटेड करने के आदेश दिए हैं. हालांकि कोर्ट (Char Dham Yatra 2021) ने ये आदेश देते हुए उत्तराखंड सरकार से कहा है कि सभी यात्रियों के लिए मेडिकल संबंधी तमाम इंतज़ाम पर्याप्त और त्वरित होने चाहिए. चारों धामों में मेडिकल सुविधा के लिए हेलीकॉप्टर तैयार रखने के निर्देश भी हाई कोर्ट ने दिए.

चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra 2021) को सशर्त मंज़ूरी

बता दें कि असल में, करीब तीन हफ्ते पहले हाई कोर्ट ने चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra 2021) को सशर्त मंज़ूरी देते हुए केदारनाथ में 800, बद्रीनाथ में 1000, गंगोत्री में 600 और यमुनोत्री में 400 श्रद्धालुओं को ही एक दिन में दर्शन के लिए अनु​मति दिए जाने की व्यवस्था दी थी. इसके बाद से ही श्रद्धालुओं का हुजूम धामों पर पहुंच रहा था और प्रशासन को कई श्रद्धालुओं को रोकना या लौटाना पड़ रहा था. इस समस्या और श्रद्धालुओं की मांग के अनुसार सरकार ने बीते गुरुवार को हलफनामा दाखिल कर यात्रियों की संख्या की सीमा बढ़ाए जाने की गुहार लगाई थी.

Big News For Today: लखीमपुर हिंसा में मरे दो किसानों का अंतिम संस्कार रोका, परिजन कर रहे ये मांग, आईजी मौके पर पहुंची

PM Modi in UP: पीएम ने उत्तर प्रदेश को दी 75 सौगातें, इतने हजार लोगों सौंपे आवास

कोरोना के बाद अब इस खतरनाक बीमारी से कराह रही दिल्ली, पीड़ितों की संख्या ने 3 साल का रिकॉर्ड तोड़ा

बड़ी खबर: UN में पाकिस्तान ने फिर उठाया कश्मीर का मुद्दा, भारत ने दिया करारा जवाब

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *