जानें क्या है गुपकार, इतनी पार्टियां हैं इसमें शामिल, ये है इनका असली मकसद

चीन और पाकिस्तान भी इस मसले में कुछ करने की हिम्मत नहीं कर सकते। 

गुपकार गैंग जिसमें नेकां, पीडीपी, पीपल्स कांफ्रेंस, अवामी नेशनल कांफ्र्रेस, माकपा, भाकपा सहित कई अन्य कश्मीर केन्द्रित राजनीतिक दल शामिल हैं, ने एक बार फिर जम्मू-कश्मीर की जनता को गुमराह करना शुरू कर दिया है।

Gumpkar gang

फिर चाहे वह फिर धारा 370, 35ए का मामला हो या फिर डोमासाईल व जमीन का मसला हो। 70 वर्षों से लोगों को लूट रहे कश्मीर के इन दलों का गुपकार गैंग लोगों को गुमराह कर उनका शोषण करने के लिए ही बना है परन्तु प्रदेश में 370 बहाल होने का उनका सपना अब कभी साकार नहीं होगा और यह बात जम्मू-कश्मीर की जनता भलीभांति संमझ चुकी है। चीन और पाकिस्तान भी इस मसले में कुछ करने की हिम्मत नहीं कर सकते।

पिछले 70 वर्षों से जम्मू संभाग के साथ हर प्रकार से भेदभाव करने वाले अब्दुल्ला व मुफ्ती परिवारों का खानदानी राज अब खत्म हो चुका है। अब केंद्र सरकार इन परिवारों व उनकी पार्टियों द्वारा जम्मू कश्मीर में की गई धांधलियों की जांच करवाकर भ्रष्टाचार का शिकार हुए लोगों के साथ इंसाफ करने जा रही है।

देश के गृहमंत्री अमित शाह ने भी गुपकार गैंग को जम्मू-कश्मीर का दुश्मन बताते हुए इनके द्वारा एक बार फिर जम्मू-कश्मीर की जनता के साथ अन्याय करने की बात कही है। उनका कहना है कि यह गैंग इसीलिए बना है ताकि 70 सालों से जो अन्याय इन लोगों ने जम्मू-कश्मीर की जनता के साथ किया है उसे फिर से करने का मौका मिले परन्तु जम्मू-कश्मीर की जनता इन दलों को अच्छी तरह समझ चुकी है।

मंगलवार को जम्मू पहुंचे मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संरक्षक इन्द्रेश कुमार ने भी इस गुपकार गैंग को आड़े हाथ लेते हुए कहा है कि यह गैंस आज भी पाकिस्तान के इशारे पर काम कर रहा है और अगर इसे पाकिस्तान इतना ही प्रिय है तो इन लोगों को पाकिस्तान ही चले जाना चाहिए। पाकिस्तान के इशारों पर चलने व उसकी भाषाा बोलने वाले इस गैंस ने वर्षों तक जम्मू-कश्मीर की जनता को दोखे में रखा और अब जब इनकी राजनीति पूरी तरह खत्म हो चुकी है तो यह एक बार फिर नई चाले चलना शुरू हो गये हैं।

वीरवार को गुज्जर-बक्करवाल समुदाय के माध्यम से होने जा रहे सेमीनार में भी इन्द्रेश कुमार इस गुपकार गैंस सहित कई जरूरी मुददों पर अपनी बात रखेंगे।

उन्होंने रोशनी एक्ट के तहत लाखों कनाल भूमि घोटाले को भी इन लोगों की ही साजिश बताया। इसके माध्यम से जम्मू संभाग में जनसांख्यकी संतुलन बिगाड़ने का जो काम हुआ है वह एक सोची समझी साजिश थी।

बता दें कि गुपकार गैंग ने यानि मुख्य रूप से नेकां-पीडीपी ने पिछले पंचायती व नकाय चुनावों में भी हिस्सा नहीं लिया था परन्तु अब धारा 370 व 35ए खत्म होने के बाद भी डीडीसी चुनावों सहित पंचायत उपचुनावों में भाग लेने की घोषणा कर दी है और लोगों कों एक बार फिर धारा 370 की वापिस व भूमि कानून को लेकर गुमराह कर रहे हैं। इस गैंग में कांग्रेस भी अप्रत्यक्ष रूप से शामिल हो गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *