Health Tips: जानें रोजाना कितने घंटे बैठे रहने वालों को है हार्ट अटैक का ज्यादा खतरा

 अगर आप भी अपना अधिकतर समय कंप्यूटर के सामने बैठकर बिताते हैं तो सतर्क हो जाएं। सिर्फ कम्प्यूटर ही नहीं बल्कि, टीवी, वेब सीरीज या कोई भी...

अगर आप भी अपना अधिकतर समय कंप्यूटर के सामने बैठकर बिताते हैं तो सतर्क हो जाएं। सिर्फ कम्प्यूटर ही नहीं बल्कि, टीवी, वेब सीरीज या कोई भी काम अगर अधिक देर तक बैठकर करते हैं तो हार्ट अटैक आने का जोखिम बढ़ जाता है। एक अध्ययन में पता चला है कि जो लोग 10 घंटे से अधिक देर तक लगातार बैठे रहते हैं, उन्हें 5-6 घंटे बैठे रहने वाले लोगों की तुलना में हार्ट अटैक या स्ट्रोक का खतरा अधिक रहता है।

Health Tips

शोध में कहा गया है कि बैठने से हार्ट ही नहीं बल्कि आपकी हड्डियां, ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर सब कुछ डिस्टर्ब होने का खतरा अधिक बढ़ जाता है। लगातार बैठे रहने से ब्लड क्लॉट भी होने का जोखिम होता है जो जानलेवा साहित हो सकता है।

आपको कोई बीमारी हो या न हो इसके लिए पहले से ही रहना आवश्यक होता है। आपको काम के बीच बीच में ब्रेक लेकर वॉक करते रहना चाहिए। साथ ही अगर आपने में लंबे समय से अपने रूटीन चेकअप नहीं करवाया है तो जरूर करवा लें।

बिगड़ जाते हैं कई फंक्शंस

एक्सपर्ट्स कहते हैं कि ज्यादा देर तक लगातार बैठे रहने से शरीर के कई फंक्शंस बिगड़ सकते हैं। उनका कहना है की बैठने से ब्लड प्रेशर बढ़ता है और इससे डायबीटीज होने का जोखिम रहता है। साथ ही कमर के चारों तरफ फैट जमा होने लगता है और कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ता है जिससे मोटापा बढ़ने लगता है। एक्सपर्ट्स की मनाएं तो लगातार लंबे समय तक बैठे रहने से गर्दन और पीठ में भी दर्द होने लगता है क्योंकि हड्डियों के लिए मूवमेंट जरूरी है। उन्होंने बताया कि कितने घंटे तक लगातार बैठे रहने से हार्ट अटैक का जोखिम अधिक रहता है।

4 घंटे से कम- कम रिस्क
4-8 घंटे- मॉडरेट रिस्क
8-11 घंटे- हाई रिस्क
11 घंटे से ज्यादा- बहुत हाई रिस्क