जेई, एईएस व टीबी रोग सहित चार बिन्दुओं पर खास ध्यान दें स्वास्थ्य कर्मी : DM

आशा कार्यकर्ता व स्वास्थ्य कर्मी संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के दौरान पूरे मनोयोग से काम करें। अभियान के दौरान घर-घर जाकर लोगों...

महराजगंज। आशा कार्यकर्ता व स्वास्थ्य कर्मी संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के दौरान पूरे मनोयोग से काम करें। अभियान के दौरान घर-घर जाकर लोगों को जेई-एईएस, टीबी सहित चार बिन्दुओं पर विशेष तौर पर बताएं तथा समय से जांच व इलाज कराने के लिए प्रेरित करें। यह बातें जिलाधिकारी डाॅ.उज्ज्वल कुमार ने कही। डीएम ने पहले जिला क्षय रोग केन्द्र परिसर से प्रचार वाहन व सफाई कर्मियों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। बाद में कार्यालय सभागार से आयोजित गोष्ठी को संबोधित भी किया।

UP MAHARAJ GANJ

उन्होंने कहा कि अभियान के दौरान कोविड, जेई-एईएस, क्षय रोग के लक्षण वाले व्यक्तियों व कुपोषित बच्चों पर विशेष फोकस रखना है। अभियान के दौरान यदि उक्त लक्षण वाले व्यक्ति या बच्चे मिलें तो उनकी सूची तैयार करें। समय से जांच और इलाज शुरू करने के लिए प्रेरित करें। इसकी रिपोर्ट अपने उच्च अधिकारियों को भी प्रेषित करें। उन्होंने यह भी कहा कि कोविड टीकाकरण में बेहतर काम हुआ है, मगर अभी और तेजी लाने की जरूरत है।

अभियान के दौरान लोगों को कोविड टीके की दूसरी डोज जरूर लगवाने के लिए भी प्रेरित करें। संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के लिए अन्य विभाग भी लगाए गए हैं। वह भी अपना काम करेंगे। वेक्टर बार्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम के नोडल अधिकारी व अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान 19 अक्टूबर से 17 नवम्बर तक चलेगा। सरकार ने वर्ष 2025 तक देश को टीबी मुक्त करने के लिए बड़ा टास्क रखा है। इसके लिए अभियान के दौरान टीबी रोगियों को खोजने में भी विशेष रूचि दिखानी होगी।

UP maharajganj

कोविड, जेई-एईएस, टीबी रोग के लक्षण के साथ कुपोषित बच्चों को भी चिन्हित करें- डाॅ.उज्ज्वल कुमार

इसी के साथ अन्य बिन्दुओं पर भी विशेष फोकस रखना होगा। कोविड, जेई-एईएस तथा टीबी रोग के लक्षण वाले व्यक्तियों को चिन्हित करने के साथ कुपोषित बच्चों को भी चिन्हित करें। उन्हें एनआरसी( पोषण पुनर्वास केन्द्र) में भर्ती कराने का भी काम करें। उन्होंने कहा कि संक्रामक रोगों को फैलने से रोकने के लिए स्वच्छ पेयजल का सेवन करना होगा तथा गंदगी से दूर रह कर साफ सफाई पर भी विशेष ध्यान देना होगा। संक्रामक रोगों को फैलने से रोकने का प्रयास करें। साफ पानी उपलब्ध कराएं।

कार्यक्रम में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अशोक कुमार श्रीवास्तव, सीएमएस डाॅ. एके राय, एसीएमओ डा.राकेश कुमार, डिप्टी डीटीओ डाॅ.राकेश श्रीवास्तव, सदर सीएचसी के अधीक्षक डाॅ. केपी सिंह, डाॅ. एवी त्रिपाठी, डीपीएम नीरज सिंह, जिला मलेरिया अधिकारी त्रिभुवन चौधरी,स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी श्रीभागवत सिंह, एसके सिंह, यूनिसेफ के डीएमसी अनिल तोमर, डब्ल्यूएचओ के सर्विलांस भेडिकल आफिसर डाॅ. विकास यादव, बीपीएम सूर्य प्रताप सिंह, हरिशंकर त्रिपाठी, संदीप शुक्ला, लवली वर्मा, ओंकार वर्मा आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *