अपनी सतह से डगमगाएगा चांद, धरती पर आने वाली है विनाशकारी बाढ़, हौरान कर देगी नासा की ये स्टडी

रिसर्च में चेतावनी दी गई है कि ये अतिरिक्त बाढ़ के दिन पूरे वर्ष समान रूप से नहीं फैले होंगे, लेकिन कुछ ही महीनों में एक साथ एकत्रित होने की संभावना है

NASA द्वारा किए गए नए शोध में बताया गया है कि जलवायु परिवर्तन के कारण बढ़ते समुद्र के स्तर के साथ मिलकर चंद्रमा की कक्षा में एक ‘डगमगाने’ पृथ्वी की विनाशकारी बाढ़ को तबाह कर देगा। रिसर्च 21 जून को नेचर क्लाइमेट चेंज जर्नल में प्रकाशित हुआ था।

moon

रिसर्च में चेतावनी दी गई है कि ये अतिरिक्त बाढ़ के दिन पूरे वर्ष समान रूप से नहीं फैले होंगे, लेकिन कुछ ही महीनों में एक साथ एकत्रित होने की संभावना है; लाइवसाइंस की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका में तटीय क्षेत्र जो अब महीने में सिर्फ दो या तीन बाढ़ का सामना करते हैं, जल्द ही एक दर्जन या अधिक का सामना कर सकते हैं।

शोधकर्ताओं ने आगाह किया कि अगर समुदायों ने अभी उनके लिए योजना शुरू नहीं की तो ये लंबे समय तक तटीय बाढ़ के मौसम जीवन और आजीविका के लिए बड़े व्यवधान का कारण बनेंगे।

नासा के इस रिसर्च के अनुसार सन् 2030 यानी अब से करीब 9 वर्ष में जलवायु परिवर्तन की वजह से बढ़ते समुद्र के जलस्तर के साथ चांद अपनी धूरी से डगमगाएगा, जिससे धरती पर विनाशकारी बाढ़ आएगी।

वहीं अब नासा ने अपने एक रिसर्च में दावा किया है कि मौसम में इस बदलाव की वजह चांद भी हो सकता है। नासा ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि ग्लोबल वार्मिंग के चलते बढ़ते समुद्र के जलस्तर के साथ चांद के अपनी कक्षा में ‘डगमगाने’ से धरती पर विनाशकारी बाढ़ आएगी।

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *