कड़ाके की ठंड के बीच 24 घंटे के भीतर इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश, गिरेगा तापमान

देश का अधिकांश हिस्सा इन दिनों भीषण बारिश की चपेट में है। वही अब कुछ राज्यों में भारी बारिश और बर्फबारी की आशंका जताई जा रही है।

नई दिल्ली। देश का अधिकांश हिस्सा इन दिनों भीषण बारिश की चपेट में है। वही अब कुछ राज्यों में भारी बारिश और बर्फबारी की आशंका जताई जा रही है। ऐसे में नए साल के पहले हफ्ते में ही तापमान और अधिक गिरने की संभावना है। मौसम विभाग ने पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में भी बर्फबारी की चेतावनी दी है। इधर दक्षिण भारत में भी
कई दिनों से लगातार बारिश हो रही है।

cold

मौसम विभाग के मुताबिक तमिलनाडु और पुद्दुचेरी में अगले 24 घंटे के दौरान भारी बारिश होने की संभावना है। वहीं चेन्नई में कई दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। ऐसे में और बारिश होने की संभावना से यहां के लोग परेशान हो गए हैं। तापमान पर नजर रखने वाली एक निजी कंपनी ने बताया कि, पश्चिमी हिमालय क्षेत्रों में वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से मौसम करवट बदल रहा है। वेस्टर्न डिस्टरबेंस 3 जनवरी तक रहेगा। इसकी वजह से गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के ऊपरी इलाकों में हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

उत्तर भारत में बढ़ सकती है शीतलहर

मौसम विभाग के मुताबिक 3 जनवरी तक पंजाब, उत्तरी राजस्थान और हरियाणा में शीत लहर चलने की संभावना है। ऐसे में यहां  न्यूनतम तापमान 2 डिग्री तक गिरकर सामान्य से 6.4 डिग्री से अधिक हो सकता है। इधर दिल्ली में भी रविवार की सुबह घना कोहरा छाया रहा और न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस से अधिकतम 20 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। आईएमडी ने राष्ट्रीय राजधानी में 3 जनवरी तक शीत लहर जारी रहने का अनुमान जताया है।

इन राज्यों में भी बारिश की संभावना

पश्चिमी विक्षोभ के मजबूत होने के चलते पहाड़ों पर बर्फबारी और हल्की बारिश की संभावना जताया जा रही है। इससे मैदानी इलाकों में भी तापमान गिरेगा। ऐसे में उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान समेत कई राज्यों में हल्की बारिश हो सकती है।मौसम विभाग के मुताबिक जनवरी माह के पहले पूरे हफ्ते में उत्तर भारत में शीतलहर जारी रहने और तापमान में गिरावट रहने की संभावना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close