इस हेल्पलाइन नम्बर पर कॉल करने से आपको मिलेगी हर मदद, मुफ्त मिलेगी खाना-पानी और दवा

सेवा भारती की हेल्पलाइन कर रही लोगों की मदद, 437 लोगों को दिलवाया प्लाज्मा

कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं उससे जुड़े संगठन निरंतर समाज सेवा कर रहे हैं। सेवा भारती के द्वारा चलाई जा रही हेल्पलाइन के माध्मय से दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर लोगों की राशन, दवाएं, प्लाज्मा, रक्त और अन्य अपरिहार्य जरूरतें पूरी की जा रही हैं।

Calling

सेवा भारती के मुताबिक उनकी ओर से हेल्पलाइन नम्बर- 8010066066 जारी किया गया है। हेल्पलाइन के जरिए डॉक्टरों से परामर्श (टेलीमेडिसिन), भोजन के पैकेट, मार्केट में उपलब्ध दवाएं आदि उपलब्ध करवाई जा रही हैं। अब तक हेल्पलाइन नंबर के जरिए 45,650 कॉल मिल चुकी हैं।

इसी तरह 7,600 से अधिक प्लाज्मा की रिक्वेस्ट प्राप्त हुई है। हेल्पलाइन से मिले कॉल के मुताबिक 437 लोगों को प्लाज्मा का सहयोग किया गया। पूरे अभियान में 130 डॉक्टर जुड़े हैं, जबकि 850 कार्यकर्ता हेल्पलाइन के जरिए फोन रिसीव कर रहे हैं।

इसके अलावा ‘उत्कर्ष भारत ऐप’ के माध्यम से डिजिटल हेल्पलाइन भी प्रारम्भ की गई है। हेल्पलाइन सेवा से प्राप्त कॉल के बाद जिले और नगरों में संबंधित कार्यकर्ता जरुरतमंद व्यक्ति से बात कर आवश्यक सामग्री और सहयोग उपलब्ध कराते हैं। इस कार्य को संघ के स्वयंसेवक कोरोना की गाइडलाइंस का पालन करते हुए कर रहे हैं।

अशोक विहार में 100 बेड का कोविड केयर सेंटर संचालित किया जा रहा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं सेवा भारती के द्वारा अशोक विहार के लक्ष्मी बाई कॉलेज में 100 बेड का कोविड केयर सेंटर संचालित किया जा रहा है। इस कोविड केयर सेंटर में कोविड वायरस से संक्रमित ऐसे मरीजों को रखा गया है जो बहुत अधिक गंभीर नहीं हैं। इस प्रकल्प में महाविद्यालय की कक्षाओं को कोविड वार्ड में तब्दील कर दिया गया है।

सेंटर में ऑक्सीमीटर, दवाएं, ग्लूकोज चढ़ाने समेत अनेक सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। जल्द ही इसे 200 बेड तक विस्तारित किया जाएगा। ख़ास बात यह है कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की व्यवस्था भी कोविड केयर सेंटर में की गई है। यहां हर दिन ओपीडी संचालित की जाती है, जिसमें हर दिन लगभग 100 मरीज आते हैं। बता दें कि सेवा भारती द्वारा देशभर में डेढ़ लाख से अधिक सेवा प्रकल्प संचालित किए जा रहे हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *