हाय! ये गर्मी…कितनी गर्मी सहन कर सकता है मनुष्य का शरीर, जानें

शरीर शरीर के तापमान की एक संकीर्ण सीमा के भीतर सबसे अच्छा काम करता है

भारत के कई राज्यों में गर्मी का कहर जारी है, जिससे लोगों को गंभीर स्वास्थ्य खतरे का सामना करना पड़ रहा है। तो वहीं कनाडा में इस वर्ष गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। जिससे कई लोगों की मौत भी हो चुकी है।

garmi

जानकारी के मुताबिक कनाडा में हीट वेव यानी ऐसी लू चली कि कई लोग गर्मी की वजह से मर रहे हैं। बीते दिन पहले वहाँ 49.5 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया। निरंतर तीसरे दिन वहाँ गर्मी के, एक के बाद एक, सारे रिकॉर्ड टूट गए। इससे पहले कनाडा में 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान कभी रिकॉर्ड नहीं किया गया था। तो वहीं ऐसे में एक सवाल हम लोगों के मन में अक्सर उठता है कि हमारा इंसानी शरीर कितनी गर्मी झेल सकता है।

वैज्ञानिकों के अनुसार, इंसानी शरीर के तापमान की एक संकीर्ण सीमा के अंदर सबसे अच्छा काम करता है – 36C से 37.5C। एक बार 40 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाने के बाद, ये कम आर्द्रता के स्तर के साथ भी खतरनाक हो सकता है और अब तापमान 50 डिग्री सेल्सियस के करीब है, स्थिति गंभीर है।

आपको बता दें कि अमेरिका की इंडियाना विश्विद्यालय के प्रोफेसर जैकरी जे श्लैडर कहते हैं, इंसानी बदन किस हद तक गर्मी बर्दाश्त कर सकता है, इसका सीधा जवाब नहीं हो सकता।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *