करोड़ों लोगों आ रही मुसीबत- समय रहते नहीं संभला हिंदुस्तान तो इन 30 शहरों पर खड़ा होगा ये बड़ा खतरा

जल संकट आने वाले वक्त में विश्व के लिए सबसे बड़ी परेशानी बन सकती है।

जल संकट आने वाले वक्त में विश्व के लिए सबसे बड़ी परेशानी बन सकती है। वर्ल्ड वाइड फण्ड (WWF) की एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के 100 अति महत्वपूर्ण शहर में रहने वाले करीब 35 करोड़ों लोगों को पानी की कमी का सामना करना पड़ सकता है।

PEOPLE

रिसर्च के मुताबिक अगर जलवायु परिवर्तन पर ग्लोबल लेवल पर ध्यान नहीं दिया गया और उसे अनुकूल बनाने की तत्काल कोशिश नहीं की गई तो हिंदुस्तान के ही 30 से अधिक शहर भारी जल संकट का सामना करने को मजबूर होंगे।

हिंदुस्तान के जिन शहरों पर जल संकट का सबसे पहले प्रभाव पड़ेगा उसमें मुंबई, बेंगलुरु, कोलकाता, जयपुर, इंदौर, अमृतसर, पुणे, श्रीनगर समेत करीब 30 शहर शामिल हैं। रिपोर्ट के अनुसार 2050 तक जल संकट चरम पर पहुंच सकता है और इससे करोड़ों लोग बुरी तरह प्रभावित होंगे।

जिन इलाकों में पानी की भारी कमी हो सकती है उसकी सूची में जयपुर 30 लाख आबादी के साथ 45वें नंबर पर है जबकि 20 लाख की जनसंख्या के साथ इंदौर 75वें स्थान पर है। जिन क्षेत्रों में अभी जल संकट 17 फीसदी तक है वहां वर्ष 2050 तक यह बढ़कर 51 फीसदी तक हो सकता है।

इस रिसर्च रिपोर्ट में हिंदुस्तान के जिन शहरों को जल संकट की वजह से अतिसंवेदनशील बताया गया है उसमें अमृतसर, पुणे, श्रीनगर, कोलकाता, बेंगलुरु, मुंबई कोझीकोड, वडोदरा, राजकोट, कोटा, अहमदाबाद, कोलाकता, मुंबई, भोपाल, ग्वालियर, दिल्ली, लखनऊ जैसे शहर शामिल हैं।

इस शोध में सन् 2030 से 2050 तक के बीच जिन शहरों को जल संकट को लेकर सबसे जोखिम वाले हिस्से में रखा गया है उसमें अहमदाबाद, अमृतसर, चंडीगढ़ जैसे शहर प्रमुख हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *