आईएमएफ का अनुमान, चालू वित्‍त वर्ष में जीडीपी में हो सकता है इतनी फीसदी गिरावट

अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कहा कि भारत की सकल घरेलू उत्‍पाद (जीडीपी) चालू वित्‍त वर्ष में 10.3 फीसदी तक गिर सकती है

नई दिल्‍ली, 13 अक्‍टूबर यूपी किरण। अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कहा कि भारत की सकल घरेलू उत्‍पाद (जीडीपी) चालू वित्‍त वर्ष में 10.3 फीसदी तक गिर सकती है। हालांकि, आईएमएफ ने वर्ष 2021 में 8.8 फीसदी की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान जताया है। इससे पहले जून में आईएमएफ ने भारत के लिए जीडीपी में 4.5 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया था।

आईएमएफ ने मंगलवार को जारी ताजा अनुमान में जीडीपी में 10.3 फीसदी की भारी गिरावट की वजह कोविड-19 की महामारी का प्रसार और देशभर में लगे लॉकडाउन को बताया है। इस दौरान विश्‍व अर्थव्यवस्था में 4.4 फीसदी की गिरावट और 2021 में 5.2 फीसदी जोरदार वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया है।

रिपोर्ट में आईएमएफ ने कहा है कि साल 2021 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 8.8 फीसदी की जोरदार बढ़ोतरी दर्ज होगी। इसी के साथ भारत चीन को पीछे छोड़ते हुए तेजी से बढ़ने वाली उभरती अर्थव्यवस्था का दर्जा फिर से हासिल कर लेगी। चीन के 2021 में 8.2 फीसदी वृद्धि हासिल करने का अनुमान है।

आईएमएफ और विश्व बैंक की सालाना बैठक से पहले जारी की गई अपनी ‘विश्व आर्थिक परिदृश्य’ पर जारी ताजा रिपोर्ट में आईएमएफ ने ये अनुमान व्यक्त किए हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था में 4.4 फीसदी की गिरावट आएगी, जबकि 2021 में ये 5.2 फीसदी की जोरदार वृद्धि हासिल करेगी। इस रिपोर्ट के मुताबिक 2020 में अमेरिका की अर्थव्यवस्था में 5.8 फीसदी गिरावट का अनुमान है, जबकि अगले वर्ष इसमें 3.9 फीसदी की वृद्धि होगी।

2020 में चीन की अर्थव्यवस्था 1.9 फीसदी बढ़ेगी
साल 2020 के दौरान दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में केवल चीन ही एकमात्र देश होगा, जिसमें 1.9 फीसदी की वृद्धि दर्ज की जाएगी। आईएमएफ के मुताबिक जलवायु परिवर्तन से सबसे अधिक प्रभावित होने वाले देशों में भारत शामिल है। इसके परिणामस्वरूप अर्थव्यवसथा के 2020 में 10.3 फीसदी गिरावट का अनुमान है, जबकि 2021 में इसमें 8.8 फीसदी वृद्धि के साथ बड़ा उछाल आएगा। पिछले हफ्ते विश्व बैंक ने चालू वित्‍त वर्ष में भारत की जीडीपी में 9.6 फीसदी गिरावट का अनुमान जताया था। इससे पहले 2019 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 4.2 फीसदी रही थी।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *