इमरान खान ने पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट की इस बात को किया अनसुना, बुलाया संसद सत्र

पाकिस्तान की सरकार एक बार फिर आर्मी वाली सरकार हो गई, इसकी बड़ी वजह ये दी जा रही है कि इमरान खान आर्मी प्रमुख को बचाने के लिए कई प्रयास किये जा रहे है. आपको बता दें कि पाकिस्तान में एक बात काफी मशहूर है कि वहां कोई भी सरकार बिना सेना की मदद के नहीं चल पाती है, जो अब सार्थक होते नज़र आ रहा है.

आपको बता दें कि पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा का कार्यकाल बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद का विशेष सत्र बुलाया है। मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को आर्मी एक्ट में संशोधन करने के लिए बिल पेश कर सकते हैं। वहीं बताया जा रहा है कि इससे पहले कार्यकाल बढ़ाने वाले एक बिल को पीएम इमरान की कैबिनेट की तरफ से मंजूरी भी दी गई। गौरतलब है कि जनरल बाजवा के कार्यकाल को तीन साल तक बढ़ा दिया गया था।

वहीँ पाकिस्तानी पीएम के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट से चेतावनी भी मिली थी। आपको बता दें कि पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आर्मी एक्ट में जनरल बाजवा के विस्तार के लिए प्रावधान नहीं है। कोर्ट ने इस विस्तार पर रोक लगाकर इसे छह माह कर दिया था और सरकार को इसे लेकर छह महीने के भीतर संसद में कानून बनाने को कहा था।

वहीं पाकिस्तान संसद में बुधवार को हुई बैठक में भाग लेने वाले एक कैबिनेट सदस्य ने कहा कि विस्तार के मामले में सेना प्रमुख की अधिकतम आयु सीमा 64 वर्ष तक बढ़ाने के लिए आह्वान किया गया है। हालांकि, सेना प्रमुख की नियमित आयु सीमा 60 वर्ष होगी। उन्होंने बताया कि बाजवा को विस्तार दिए जाने पर आखिरी निर्णय प्रधानमंत्री द्वारा लिया जाएगा। प्रधानमंत्री इमरान खान ने 19 अगस्त, 2019 को बाजवा के कार्यकाल को और तीन साल के लिए बढ़ाने का फैसला किया था।

पाकिस्तान सरकार के द्वारा जनरल बाजवा के विस्तार को चुनौती दी गई। इसे संविधान के अनुच्छेद 243 (4) (बी) के खिलाफ माना गया। यह मामला शुरू में ज्यूरिस्ट फाउंडेशन द्वारा दायर किया गया था, लेकिन उन्होंने कोर्ट से इस मामले को वापस लेने के लिए कहा, जिसके बाद अदालत ने खुद इसपर सुनवाई का निर्णय किया।

दिल्ली: पीरागढ़ी फैक्ट्री में आग के बाद हुए कई धमाके, 9 घंटे से चल रहा बचाव कार्य

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close